PM Modi की सुरक्षा में गंभीर चूक पर एक्‍शन में गृह मंत्रालय, अमित शाह ने गठित की तीन सदस्यीय जांच कमेटी

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पीएम मोदी की फिरोजपुर यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच के लिए समिति का गठन क‍िया. तीन सदस्यीय समिति का सचिव (सुरक्षा), कैबिनेट सचिवालय करेंगे. आईबी के संयुक्त निदेशक और एसपीजी के आईजी होंगे. समिति से जल्द से जल्द रिपोर्ट मांगी

Published: January 6, 2022 9:35 PM IST

By Laxmi Narayan Tiwari | Edited by India.com Hindi News Desk

Modi, Shah Encourage Youth, First Time Voters To Vote In Large Numbers As Polling Begins In UP, Punjab
Modi, Shah Encourage Youth, First Time Voters To Vote In Large Numbers As Polling Begins In UP, Punjab

MHA, Ministry of Home Affairs, Committee, Modi’s Ferozepur visit, Ferozepur, Punjab, security lapses, PM MODI, VVIP, Amit Shah: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आज गुरुवार को देर शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कल 5 जनवरी 2022 को फिरोजपुर यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच के लिए एक जांच समिति का गठन कर दिया है. केंद्रीय गृह मंत्री ने घटना के दूसरे ही दिन गृह प्रधानमंत्री मोदी की फिरोजपुर यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच के लिए एक समिति का गठन कर दिया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय की तीन सदस्यीय समिति का नेतृत्व श्री सुधीर कुमार सक्सेना, सचिव (सुरक्षा), कैबिनेट सचिवालय करेंगे और इसमें बलबीर सिंह, संयुक्त निदेशक, आईबी और एस सुरेश, आईजी, एसपीजी शामिल होंगे. समिति को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने की सलाह दी जाती है.

Also Read:

बता दें कि पीएम मोदी ने आज  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर अपने पंजाब दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा में हुई चूक के मामले की जानकारी दी थी और इसके कुछ ही देर बाद केंद्र सरकार ने संकेत दिया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा संबंधित जानकारियां इकट्ठा किए जाने के बाद वह कोई बड़ा व कड़ा फैसला भी ले सकती है.

बता दें कि कल पंजाब के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में कल बुधवार को उस वक्त गंभीर चूक की घटना हुई, जब फिरोजपुर में कुछ प्रदर्शनकारियों ने उस सड़क मार्ग को अवरुद्ध कर दिया जहां से उन्हें गुजरना था. इस वजह से प्रधानमंत्री एक फ्लाईओवर पर करीब 20 मिनट तक फंसे रहे. घटना के बाद पीएम किसी कार्यक्रम में शामिल हुए बिना दिल्ली लौट आए थे.

इस घटना से एक बड़ा राजनीतिक विवाद पैदा हो गया

केंद्र सरकार ने इस घटना के लिए पंजाब की कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहराया और उससे रिपोर्ट तलब की है. हालांकि, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई और इसके पीछे कोई राजनीतिक मंशा नहीं थी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में अचानक हुए बदलाव के कारण यह घटना हुई और प्रधानमंत्री के जीवन पर खतरे जैसी कोई स्थिति नहीं थी. इस घटना से एक बड़ा राजनीतिक विवाद पैदा हो गया है. भाजपा ने आरोप लगाया है कि पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने प्रधान त्रमंत्री को “शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाने की कोशिश की”, जबकि अन्य दलों ने भी कानून और व्यवस्था के मुद्दे पर राज्य सरकार पर हमला किया है. बचाव की मुद्रा में आए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने इस बात से इनकार किया कि घटना के पीछे कोई सुरक्षा चूक या राजनीतिक मकसद था और कहा कि उनकी सरकार जांच के लिए तैयार है. पंजाब सरकार ने भी घटना की जांच के लिए बुधवार को एक समिति का गठन किया था.

केंद्र ने बड़े व कड़े फैसले का दिया था संकेत

पीएम मोदी ने आज सुबह जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी ओर अपने पंजाब दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा में हुई चूक के मामले की जानकारी दी, तभी इसके कुछ ही देर बाद केंद्र सरकार ने संकेत दिया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा संबंधित जानकारियां इकट्ठा किए जाने के बाद वह कोई बड़ा व कड़ा फैसला भी ले सकती है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के पंजाब दौरे पर हुई सुरक्षा चूक के बारे में केंद्रीय गृह मंत्रालय सूचनाएं एकत्र कर रहा है और बड़े एवं कड़े फैसले किए जाएंगे. ठाकुर ने कहा कि कुछ लोग इस बारे में सुप्रीम कोर्ट भी गए हैं और मीडिया सहित अन्य क्षेत्रों से लोगों ने अपने विचार व्यक्त किए हैं. उन्होंने कहा, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी कार्रवाई की बात कही है. सूचनाएं एकत्र करने के बाद जो भी कदम बड़े और कड़े निर्णय उसकी ओर से लिए जाएंगे ठाकुर ने कहा, मेरा मानना है कि देश की न्यायिक व्यवस्था ने सभी को न्याय दिया है. और जब ऐसी चूक होती हैं, जो भी कदम उठाने होंगे, उठाए जाएंगे.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा ने कल कहा था, इस तरह की लापरवाही अस्वीकार्य, जवाबदेही तय की जाएगी

कल ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पंजाब की राज्य सरकार को तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश देते हुए कहा था है कि उसने जरूरी तैनाती सुनिश्चित नहीं की, जबकि गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान सुरक्षा प्रक्रिया में इस तरह की लापरवाही पूरी तरह से अस्वीकार्य है और जवाबदेही तय की जाएगी.

पंजाब के सीएम ने दो सदस्यीय समिति गठित कर दी

सुप्रीम कोर्ट ने भी इस मामले का संज्ञान लिया, वहीं इस मामले में बीजेपी और कांग्रेस में आरोप और प्रत्यारोप के सिलसिले के बीच पंजाब सरकार ने पूरे प्रकरण की जांच के लिए दो सदस्यीय समिति गठित कर दी. मुख्यमंत्री ने मामले की गहराई से जांच के लिए एक समिति गठित कर दी है. सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति मेहताब सिंह गिल और प्रधान सचिव, गृह मामले व न्याय, अनुराग वर्मा को तीन दिनों के भीतर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है. चन्नी ने कहा कि रिपोर्ट आने के बाद ही दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

भाजपा नेताओं ने चंडीगढ़ में राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात की थी

पंजाब के भाजपा नेताओं ने चंडीगढ़ में राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात की और राज्य के गृह मंत्री और पुलिस महानिदेशक को बर्खास्त किए जाने की मांग की. वहीं, उत्तराखंड में एक रैली को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी सुरक्षा चूक को लेकर पंजाब सरकार को आड़े हाथों लियाइन सबके बीच, देश भर में भाजपा नेताओं ने प्रधानमंत्री के दीर्घायु होने की कामना करने हुए मंदिरों में पूजा-अर्चना की और महामृत्युंजय मंत्र का जाप भी किया.

सुप्रीम कोर्ट की सीजेआई के नेतृत्‍व वाली बेंच कल सबसे पहले पीएम की सुरक्षा पर के मामले की सुनवाई करेगी

सुप्रीम कोर्ट सुरक्षा चूक मामले की गहन जांच और भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति नहीं हो, यह सुनिश्चित करने का अनुरोध करने वाली याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा. प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण, न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति हिमा कोहली की पीठ ने बृहस्पतिवार को वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह के उस प्रतिवेदन पर गौर किया, जिसमें कहा गया है कि पंजाब में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में गंभीर चूक हुई. याचिका पर तत्काल सुनवाई का अनुरोध किया गया था. पीठ ने कहा, ”इस याचिका की एक प्रति राज्य सरकार को भी सौंपे. हम कल सबसे पहले इस पर सुनवाई करेंगे.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 6, 2022 9:35 PM IST