नई दिल्लीः दिल्ली के चावड़ी बाजार इलाके में स्कूटर खड़ा करने को लेकर हुए झगड़े के साम्प्रदायिक रंग लेने के बाद एक मंदिर में कथित तोड़फोड़ के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया और एक नाबालिग को पकड़ा गया. दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने गिरफ्तारियों की पुष्टि की लेकिन आगे विवरण देने से मना कर दिया. वहीं, दूसरी ओर पुलिस की मौजूदगी में देर शाम दोनों समुदायों के लोगों ने तनाव दूर करने के लिए चर्चा की. रविवार रात हुई घटना के बाद से लगातार दूसरे दिन इलाके में तनाव पसरा रहा. Also Read - Corona Guidelines for Navratri and Ramadan 2021: यूपी, बिहार से लेकर महाराष्ट्र तक, जानिए इन 6 राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर क्या हैं नियम?

पुलिस उपायुक्त (मध्य) मंदीप सिंह रंधावा ने कहा, ‘‘दोनों समुदायों की बैठक में फैसला किया गया कि गुनहगारों को सजा मिलनी चाहिए. हर कोई शांति से रहेगा और बुधवार से बाजार खुलेगा.’’ विहिप के कार्यकर्ताओं ने दिन में इलाके का दौरा किया और मंदिर में तोड़-फोड़ में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग की. Also Read - क्‍या दिल्‍ली में लगेगा लॉकडाउन? CM केजरीवाल ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज 12 बजे बुलाई मीटिंग

विहिप की दिल्ली इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को यहां पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से मुलाकात की और दिल्ली के हौज काजी इलाके में मंदिर में तोड़-फोड़ में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग की. प्रतिनिधिमंडल ने पटनायक को यह भी बताया कि इस घटना के पीछे कोई ‘बड़ी साजिश’ हो सकती है क्योंकि एक स्कूटर खड़ा करने को लेकर झगड़ा इतना बढ़ गया कि मंदिर में तोड़-फोड़ की गई. Also Read - UP: युवती ने 2 साल पहले जिस 'अशोक राजपूत' से की थी शादी, वह निकला अफजल खान

लोगों से शांति बनाए रखने का अनुरोध करते हुए आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि मंदिर में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. सिंह ने कहा कि मंदिर में तोड़फोड़ एक अक्षम्य अपराध है और कानून इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा.