नई दिल्लीः दिल्ली के चावड़ी बाजार इलाके में स्कूटर खड़ा करने को लेकर हुए झगड़े के साम्प्रदायिक रंग लेने के बाद एक मंदिर में कथित तोड़फोड़ के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया और एक नाबालिग को पकड़ा गया. दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने गिरफ्तारियों की पुष्टि की लेकिन आगे विवरण देने से मना कर दिया. वहीं, दूसरी ओर पुलिस की मौजूदगी में देर शाम दोनों समुदायों के लोगों ने तनाव दूर करने के लिए चर्चा की. रविवार रात हुई घटना के बाद से लगातार दूसरे दिन इलाके में तनाव पसरा रहा.Also Read - Omicron Update: दिल्‍ली के LNJP में भर्ती 12 विदेशियों की सेहत से जुड़ा ताजा अपडेट

पुलिस उपायुक्त (मध्य) मंदीप सिंह रंधावा ने कहा, ‘‘दोनों समुदायों की बैठक में फैसला किया गया कि गुनहगारों को सजा मिलनी चाहिए. हर कोई शांति से रहेगा और बुधवार से बाजार खुलेगा.’’ विहिप के कार्यकर्ताओं ने दिन में इलाके का दौरा किया और मंदिर में तोड़-फोड़ में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग की. Also Read - Omicron in India: क्या दिल्ली भी पहुंच गया है खतरनाक वेरिएंट Omicron! LNJP में भर्ती हैं कई मरीज

विहिप की दिल्ली इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को यहां पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से मुलाकात की और दिल्ली के हौज काजी इलाके में मंदिर में तोड़-फोड़ में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग की. प्रतिनिधिमंडल ने पटनायक को यह भी बताया कि इस घटना के पीछे कोई ‘बड़ी साजिश’ हो सकती है क्योंकि एक स्कूटर खड़ा करने को लेकर झगड़ा इतना बढ़ गया कि मंदिर में तोड़-फोड़ की गई. Also Read - DDE Corridor: दिल्ली से देहरादून सिर्फ 2.30 घंटे में, मेरठ से लेकर हरिद्वार तक चमकेगी बीच के शहरों की सूरत

लोगों से शांति बनाए रखने का अनुरोध करते हुए आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि मंदिर में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. सिंह ने कहा कि मंदिर में तोड़फोड़ एक अक्षम्य अपराध है और कानून इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा.