नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी के चलते कंपनियां अब भर्ती के लिए रणनीति बदल रही हैं और आमने-सामने साक्षात्कार की जगह स्वचालित प्रणालियों और वर्चुअल प्लेटफॉर्म का सहारा ले रही हैं. कंपनियों ने कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनिया भर में बढ़ते स्वास्थ्य संकट को बहुत गंभीरता से लिया है और अपने कर्मचारियों की सेहत के बारे में चिंतित हैं. इसलिए कॉरपोरेट अपनी भर्ती रणनीति को बदलकर वर्चुअल प्लेटफार्म पर स्थानांतरित कर रहे हैं. Also Read - COVID-19: आईपीएल फ्रेंचाइजी सनराइजर्स हैदराबाद ने 10 करोड़ रुपये दिए दान, कमेंट करने से खुद को नहीं रोक पाए वॉर्नर

भर्ती संस्था एंटल इंटरनेशन के प्रवक्ता ने बताया, “कोविड-19 के मामले बढ़ने के बाद हमारे कुछ साक्षात्कार रद्द किए गए हैं. उन्हें अप्रैल के मध्य या बाद तक स्थगित कर दिया गया है. कुछ कंपनियों ने ऐसे पदों के लिए वीडियो साक्षात्कार किया है, जो पद बेहद महत्वपूर्ण हैं और तत्काल भर्ती करना जरूरी है. हमारे ज्यादातर साक्षात्कार आमने-सामने की जगह वीडियो कॉल या टेलीफोन पर हो रहे हैं.” Also Read - Coronavirus: देश में 24 घंटे में 20 लोगों समेत अब तक कुल 169 जानें गईं, संक्रमित 5865

कंपनियां भर्ती के लिए अब उम्मीदवारों के पिछले तीन महीनों के यात्रा ब्यौरे को भी खंगाल रही हैं. साथ ही उनका चिकित्सा इतिहास भी जांचा जा रहा है. मर्सर मेटल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सिद्धार्थ गुप्ता ने कहा, “घर से काम, आभासी बैठक प्लेटफार्मों और दूसरे साधनों की मदद से बेहतर कार्य प्रबंधन किया जा सकता है.” ऑनलाइन मूल्यांकन के इस्तेमाल से खासतौर से आईटी और तकनीकी भूमिकाओं के लिए नियुक्ति की प्रक्रिया को बढ़ावा मिला है. Also Read - Covid-19: कोरोना के अगले चरण के लिए तैयार किए जा रहे डॉक्टर और नर्स

एडेको ग्रुप इंडिया के कंट्री मैनेजर और एमडी मार्को वल्सेची ने कहा, “प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर, वेब और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, स्काइप और व्हाट्सऐप जैसे दूरसंचार अनुप्रयोगों का उपयोग करके हम भर्ती करने के लिए एक आधुनिक और सतर्क नजरिया बनाए रखने में सफल रहे हैं, जो इस अभूतपूर्व वक्त में जरूरी है.” कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के चलते दुनिया भर में 14,000 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है और लाखों लोग संक्रमित हैं.