नई दिल्ली: कांग्रेस ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी सरकार के शिक्षा मॉडल पर ‘‘पोस्टमार्टम रिपोर्ट’’ जारी की, जिसमें उसने पाँच वर्षों में इस क्षेत्र के लिए बजट के 46 प्रतिशत हिस्से का उपयोग करने में ‘‘विफल’’ रहने का आरोप लगाया.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने कहा कि यह राष्ट्रीय राजधानी के निवासियों के लिए ‘‘गंभीर चिंता का विषय’’ है कि दिल्ली सरकार के शिक्षा बजट का 46 प्रतिशत हिस्सा खर्च ही नहीं हुआ. रिपोर्ट पर आप की ओर से कोई तत्काल प्रतिक्रिया मिल सकी है.

चोपड़ा ने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में आई थी, तब शिक्षा का बजट 866 करोड़ रुपये था, जो पार्टी के सत्ता से जाने तक बढ़कर 5,912 करोड़ रुपये हो गया था. उन्होंने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पिछले पांच वर्षों में केजरीवाल सरकार का शिक्षा बजट 26,577 करोड़ रुपये हो गया लेकिन इस धनराशि में से केवल 12,243.06 करोड़ रुपये खर्च किए गए.