नई द‍िल्‍ली/ मुंबई: महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लागू होने के बाद सरकार बनाने की दिशा में तीनोंं   पार्टियां कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना अपनी-अपनी कवायद में जुटी रहीं. महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना के साथ संभावित गठबंधन से पहले साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर फैसला लेने के लिए कांग्रेस और एनसीपी ने बनाई जाने वाली संयुक्त समिति के लिए बुधवार को अपने अपने  पांच-पांंच  सदस्यों को नामित किया है.

वहीं, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं से मुलाकात के बाद कहा कि बातचीत सही दिशा में जा रही है.

एनसीपी और कांग्रेस इस पर बातचीत कर रही हैं कि क्या वह राज्य में वैकल्पिक सरकार बनाने के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन कर सकती हैं.

कांग्रेस और एनसीपी के बीच कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर बात होगी. सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना भी इस चर्चा में शामिल होगी. इसके लिए दोनों पार्टियों ने कमेटी में शामिल होने वाले अपने-अपने नेताओं के नाम तय कर दिए हैं. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच सरकार बनाने को लेकर बातचीत जारी है. वहीं, शिवसेना ने कहा है कि उसकी पार्टी का नेता ही मुख्‍यमंत्री होगा.

मुंबई में बुधवार को कांग्रेस और एनसीपी की अपनी-अपनी बैठकें हुईं, जिसमें दोनों पार्टियों ने संयुक्‍त कमेटी के लिए अपने-अपने पांच-पांच नेताओं के नामों की घोषण की है. इन कमेटी में शामिल नेता कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर बात करेंगे.

राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने  कमेटी के लिए पांच नेताओं जयंत पाटिल, अजित पवार, छगन भुजबल, धनंजय मुंडे और नवाब मलिक के नाम तय किए हैं. एनसीपी के विधायकों की बुधवार को मुंबई वाई बी चह्वाण केंद्र में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. शरद पवार के नेतृत्व वाली पार्टी के एक नेता ने कहा, एनसीपी ने संयुक्त समिति का हिस्सा बनने वाले नेताओं को नामित किया है. कांग्रेस भी इस उद्देश्य के लिए अपने सदस्यों को नामित कर दिया है.

कांग्रेस ने संयुक्‍त कमेटी के लिए अशोक चव्‍हाण, पृथ्‍वीराज चव्‍हाण, माणिकराव ठाकरे, बालासाहेब थोरात और विजय वडेट्टीवार के नाम तय किए हैं.

बता दें कि शिवसेना अपने मुख्‍यमंत्री का दावे पर अभी भी कायम है. मुंबई के लीलवती अस्‍पताल में भर्ती रहे पार्टी के सीनियर नेता संजय राउत ने छुट्टी होने के वक्‍त कहा कि सीएम तो शिवसेना का ही होगा.

बता दें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने मंगलवार को मुंबई में मुलाकात की थी, जिसके बाद समिति गठित की गईं हैं. उन्होंने शिवसेना के साथ गठबंधन की संभावना पर काम करने से पहले साझा न्यूनतम कार्यक्रम (सीएमपी) तय करने की जरूरत जताई थी.

बता दें कि पिछले महीने हुए महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनावों में 288 सदस्यीय सदन में बीजेपी ने 105 सीटें, शिवसेना ने 56, एनसीपी  ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटें जीती हैं. (इनपुट: एजेंसी)