नई दिल्ली. कांग्रेस ने राफेल मामले को लेकर गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर हमला बोला और कहा कि इस ‘घोटाले’ से बचकर भागने की बजाय उन्हें देश के समक्ष स्पष्टीकरण देना चाहिए. पार्टी ने यह भी कहा कि ओलांद के खुलासे के बाद प्रधानमंत्री की ‘चुप्पी’ से यह साबित होता है कि वह अपनी गलती मान रहे हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एस जयपाल रेड्डी ने संवाददाताओं से कहा, ‘राफेल घोटाला रोजाना गहराता जा रहा है. मोदी जी अंतरराष्ट्रीय खुलासों और देश के भीतर के खुलासों पर घिरते जा रहे हैं.’

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘मौजूदा फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा है कि वह सौदे के समय पद पर नहीं थे. एक तरह से उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के उस खुलासे को नहीं नकारा कि सरकार के कहने पर अनिल अंबानी की कंपनी को दसाल्ट का ऑफसेट साझेदार चुना गया था.’ रेड्डी ने कहा, ‘फ्रांस की मौजूदा सरकार की ओर से ओलांद के दावे को नकारा नहीं जा रहा है. ऐसा कभी नहीं हुआ कि भारत के प्रधानमंत्री की बात को किसी जिम्मेदार वैश्विक राष्ट्र के नेता ने नकारा हो. फ्रांस भारत का मित्र देश रहा है. वह 70 साल से लगातार भारत के साथ खड़ा हुआ है. ऐसे में अगर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति कुछ कहते हैं तो देश को उसका संज्ञान लेना चाहिए.’

उन्होंने कहा, ‘मोदी जी ओलांद की बात को खारिज नहीं कर रहे हैं. वह विपक्ष की बात को भी खारिज नहीं कर रहे हैं. इसका मतलब यह है कि वह अपनी गलती मान रहे हैं. ओलांद के खुलासे पर मोदी को देश को जवाब देना चाहिए.’ एक अंग्रेजी अखबार की खबर का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने विमान की कीमत पर आपत्ति जताई. अधिकारी ने कहा कि यूरोफाइटर ने इसी तरह का विमान 20 फीसदी कम कीमत पर देने की पेशकश की है और ऐसे में फ्रांस से कहा जाए कि वह राफेल के लिए 20 फीसदी कम कीमत ले. इसके बाद संयुक्त सचिव को छुट्टी पर जाना पड़ा.’ उन्होंने कहा, ‘मोदी जी, आप जितना भागने की कोशिश करेंगे, यह उतना ही आपका पीछा करेगा. मोदी जी ने चुप्पी साध रखी है. राफेल घोटाला जितना गहराता जा रहा है उतना ही मोदी जी की नैया डूबती जा रही है.’

(इनपुट – एजेंसी)