नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान पर कांग्रेस (Congress) द्वारा भारत बचाओ रैली (Bharat Bachao Rally) की जा रही है. ये रैली केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ की जा रही है. रैली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के नेतृत्व में हो रही है. पी चिदंबरम सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता यहां मौजूद हैं.

रैली में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बीजेपी पर हमला बोला. राहुल गांधी ने कहा कि मुझे कहते हैं कि सही बात बोलने के लिए माफ़ी मांगूंगा, मैं कभी माफ़ी नहीं मांगूंगा. मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गांधी है. कोई कांग्रेस कार्यकर्ता भी माफ़ी नहीं मांगेगा. राहुल गांधी ने ये बात रेप वाले बयान पर बीजेपी सांसदों द्वारा माफ़ी की मांग को लेकर कही. राहुल गांधी ने कहा कि वो अपने बयान पर अडिग हैं. माफ़ी मागेंगे तो नरेंद्र मोदी और उनके असिस्टेंट अमित शाह माफ़ी मांगेंगे.

राहुल गांधी ने कहा कि हिन्दुस्तान की अर्थव्यवस्था नरेंद्र मोदी ने स्वयं ख़त्म खर दी. नष्ट कर दी. दुनिया कुछ समय तक हिन्दुस्तान की ओर देखता था, लेकिन अर्थव्यवस्था डूब गई. इन्होंने नोटबंदी के नाम पर देश से झूठ बोला. जब कांग्रेस की सरकार थी तो मीडिया आलोचना करती थी और सही करती थी, लेकिन देश का मीडिया आज अपना काम भूल गया है. देश की जिम्मेदारी आपकी भी है. राहुल गांधी ने कहा कि देश डराया और दबाया जा रहा है.कांग्रेस वाला किसी से डरता नहीं है. मैं उन लोगों से कह रहा हूं जिन्हें डराया जा रहा है लेकिन किसी को डरने की ज़रूरत नहीं.

राहुल ने कहा कि नोटबंदी के बाद गब्बर सिंह टैक्स लगाया. मनमोहन जी, चिदम्बरम जी ने चेताया था कि जो पूरे देश ने बनाया है, वो नष्ट हो जाएगा, लेकिन मोदी नहीं माने. आधी रात को गब्बर सिंह टैक्स लागू कर दिया. हिंदुस्तान के सब दुश्मन चाहते थे कि हिंदुस्तान की शक्ति यानी अर्थव्यवस्था को नष्ट किया जाए और ये काम उन दुश्मनों ने नहीं, हमारे प्रधानमंत्री ने किया. फिर ये अपने आप को देशभक्त कहते हैं.

देश बचाओ रैली: सोनिया गांधी ने कहा- संविधान बचाने के लिए हम हर कुर्बानी को तैयार, पीछे नहीं हटेंगे

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि आज जरूरत है कि आप लोग कांग्रेस के हाथ मजबूत करें, ताकि देश को आगे ले जाया जा सके. उन्होंने गिरी जीडीपी और अर्थव्यवस्था के हाल को लेकर निशाना साधा.

इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने केंद्र सरकार को कई मुद्दों पर घेरा. प्रियंका ने कहा कि चारों तरफ अत्याचार है. महिलाओं, गरीबों के लिए मुश्किल है. ऐसे क़ानून बनाए जा रहे हैं, जिससे लोग अपनों के बीच ही बेघर हो रहे हैं. जीडीपी पाताल में है. अत्याचार बढ़ रहा है. प्रियंका ने कहा कि देश मुश्किल दौर से देश गुजर रहा है. अगर आपको देश की मिट्टी प्यारी है और ये देश प्यारा है तो आवाज़ उठाएं वरना विभाजन होने का ख़तरा है. अगर ऐसा नहीं किया तो डर और ऐसे हालात में जीते रहेंगे. हम देश को बचाना चाहते हैं.

प्रियंका गांधी ने कहा कि अगर आप चुप रहे तो हमारे देश का संविधान ख़त्म कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि और ऐसे में बीजेपी और आरएसएस के झूठी बातों के लिए हम सब जिम्मेदार होंगे. भारत कैसा देश है? यह एक ऐसे आंदोलन से पैदा हुआ देश है, विश्व के सबसे बड़े साम्राज्य को हराने के लिए अहिंसा और प्रेम की शक्ति का इस्तेमाल किया. यह प्रेम, अहिंसा और भाईचारे का देश है.

प्रियंका गांधी ने कहा कि मेरे पिता का खून इस धरती की मिट्टी में मिला हुआ है. उन्नाव की बेटी के पिता का खून भी इसी मिट्टी में मिला. उस बेटी के परिजनों से मिलते वक़्त मेरे आंसू आ गए. बीजेपी है तो प्याज 100 रुपए से ज़्यादा बिकना मुमकिन है. बीजेपी तो है जीडीपी का गिरना मुमकिन है. बीजेपी है तो चार करोड़ नौकरियां जाना मुमकिन है. बीजेपी है तो 45 सालों में सबसे ज़्यादा बेरोजगारी होना मुमकिन है.

नागरिकता संशोधन एक्ट: असम-बंगाल में प्रदर्शन जारी, नगालैंड में भी बंद, जामिया में परीक्षाएं स्थगित

इससे पहले पी. चिदंबरम ने जीडीपी को लेकर निशाना साधा. चिदंबरम ने कहा कि जीडीपी कम होने के बड़े खतरे हैं. ये ख़तरा आगे और बड़ा हो सकता है.प्रियंका गांधी ने कहा लोग मुश्किल में हैं. ये देश प्रेम और भाईचारे का है. रैली में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, सचिन पायलट, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी रैली में शामिल होकर केंद्र सरकार को घेरा है.