नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) के दलित विरोधी रुख का वीडियो साझा करने के एक दिन बाद सोमवार को आरएसएस ने कांग्रेस प्रमुख और उनकी पार्टी के प्रचार अभियान को झूठ पर आधारित राजनीतिक झलावा बताया. Also Read - West Bengal Latest News: 50 से ज्‍यादा TMC नेता बीजेपी में होंगे शामिल, भाजपा सांसद का दावा

आरएसएस के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने जारी बयान में कहा, “कांग्रेस पार्टी और उनके अध्यक्ष लगातार अपने झूठ और धोखे से समाज को भ्रमित कर रहे हैं. राहुल गांधी का आधिकारिक फेसबुक पेज सरसंघचालक मोहनजी भागवत और मेरे बारे में झूठ फैला रहा है. इसमें राहुल ने कहा है कि आरएसएस भारतीय संविधान द्वारा अनुसूचित जाति/जनजाति को दिए गए आरक्षण को खत्म करने की इच्छुक है.” वैद्य ने कहा कि ये आरोप सफेद झूठ और आधारहीन हैं.

PM मोदी ने राजनीतिक हिंसा के सवाल पर कार्यकर्ताओं को दी सीख, कहा- बदले के लिए काम नहीं करें

राहुल गांधी ने रविवार को बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधते हुए इनकी विचारधारा को फासीवादी बताते हुए कहा था कि बीजेपी और आरएसएस दलितों और आदिवासियों को समाज के निचले पायदान पर बनाए रखना चाहते हैं. राहुल गांधी द्वारा पोस्ट किए गए इस दो मिनट के वीडियो में गुजरात के उना में 2016 की घटना समेत दलितों पर हुए अत्याचारों को दिखाया गया था.(इनपुट-एजेंसी)