नई दिल्ली. फेसबुक डाटा लीक मामले में बीजेपी और कांग्रेस के बीच जुबानी जंग जारी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि नरेंद्र मोदी ऐप डाउनलोड करने पर यूजर्स की सारी जानकारी विदेश में बैठे उनके दोस्तों के पास चली जाती है. इसके बाद बीजेपी ने आरोप लगाया है कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के ऐप को डाउनलोड करने पर इसकी सारी जानकारी सिंगापुर भेज दी जाती है. बता दें कि कैंब्रिज एनालिटिका फेसबुक डाटा लीक मामले के सामने आने के बाद से भारत में भी डाटा लीक का मामला सामने आया है. बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे पर आरोप लगा रही हैं. Also Read - कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से सिद्धू ने लंच पर की मुलाकात, पंजाब कैबिनेट में जल्‍द हो सकती है वापसी

बीजेपी आईटी सेल के इंचार्ज अमित मालवीय ने आरोप लगाया कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के ऐप को डाउनलोड करने से यूजर्स की जानकारी सिंगापुर देने के बात सामने आने के बाद ये ऐप डिलीट कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने नरेंद्री मोदी ऐप डिलीट करने की अपील की थी. लेकिन कांग्रेस ने खुद के ऐप को डिलीट कर दिया है. Also Read - अहमद पटेल कांग्रेस के एक मजबूत स्तंभ थे जो मुश्किल दौर में हमेंशा पार्टी के साथ खड़े रहे: राहुल गांधी

हालांकि, बीजेपी के इस आरोप पर कांग्रेस ने बचाव किया है. कांग्रेस का कहना है कि ऐप कई दिनों से बंद था, इसलिए इसे हटाया गया है. इसमें कुछ जरूरी बदलाव हो रहे हैं. कुछ देर बाद ऐप फिर से शुरू हो जाएगा.

बता दें कि सोमवार की सुबह ही अमित मालवीय ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस के आधिकारिक ऐप को डाउनलोड करने पर इसकी सारी जानकारी सिंगापुर में बैठे कुछ लोगों को दे दी जाती है. इसके लिए उन्होंने आईपी एड्रेस के साथ-साथ देश और शहर का जिक्र करते हुए एक डेटा भी जारी किया था.

अमित ने लिखा था, हाय!, मेरा नाम राहुल गांधी है. मैं देश की सबसे पुरानी पार्टी का अध्यक्ष हूं. जब आप हमारे अधिकारिक ऐप को साइन-अप करते हैं तो मैं आपकी सारी जानकारी सिंगापुर में बैठे अपने दोस्तों को दे देता हूं.

यह है विवाद
बता दें कि ब्रिटेन की गूगल डाटा एनालेटिक्स कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका पर सोशल मीडिया यूजर्स की निजी जानकारी चुराने का आरोप है. आरोप है कि इसने फेसबुक के 5 करोड़ खातों से डाटा चुराकर उसका इस्तेमाल अमेरिकी चुनावों में डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में किया था. आरोप है कि डाटा मैन्यूपुलेशन ट्रिक्स की मदद से कंपनी ने लोगों का डाटा चुराकर की देशों के चुनावों में इस्तेमाल किया था. इन देशों में भारत का नाम भी शामिल है. इसके बाद पहले बीजेपी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया तो कांग्रेस ने भी पलटवार करते हुए बीजेपी को घेरा था.