नई दिल्ली. प्रवासी भारतीय सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की आलोचना करते हुए कांग्रेस ने मंगलवार को आरोप लगाया कि वह सरकार के पैसे का उपयोग भाजपा के ‘प्रधान प्रचारक’ के रूप में कर रहे हैं. पार्टी ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री को श्वेत पत्र जारी कर यह बताना चाहिए कि उनकी सरकार ने पांच साल में क्या किया है. कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी जी अपने स्वाभाविक रूप में भाजपा के प्रधान प्रचारक के रूप में काम कर रहे हैं. प्रधानमंत्री देश का पैसा खर्च करके जो यात्रा करते हैं वह विपक्ष को गाली देने के लिए नहीं है. इस पर चुनाव आयोग को गौर करना चाहिए.’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘मोदी जी की वाणी कड़वी है. वह दुर्भावना से भरे रहते हैं. हम सोचते थे कि हालिया चुनावों के बाद जो सन्देश मिला है उससे वह अपनी मानसिकता बदल देंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. प्रवासी भारतीय सम्मेलन में मोदी जी का भाषण पद की गरिमा पर चोट करने वाला है.’ शर्मा ने कहा, ‘ हम प्रधानमंत्री को चुनौती देते हैं कि वह पांच साल में क्या हुआ, इसे लेकर श्वेत पत्र जारी करें.’ उन्होंने सवाल किया, ‘ ‘मेक इन इंडिया’ का क्या हुआ? औद्योगिक उत्पादन दर में गिरावट क्यों आई? निवेश क्यों नहीं बढ़ रहा है?”

मेक इन इंडिया पर कटाक्ष
कांग्रेस नेता ने कहा, ‘वह प्रवासी भारतीयों को कौन से ‘मेक इन इंडिया’ के बारे में समझा रहे थे? उन्हें यह समझना चाहिए कि मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने से पहले भारत का अस्तित्व था, उसका दुनिया में सम्मान था, भारत 1974 में ही परमाणु शक्ति बन चुका था और चंद्रयान एवं मंगलयान भेजा जा चुका था.’ उन्होंने कहा, ‘हमारी लड़ाई एक ऐसे प्रधानमंत्री से है जिन्होंने झूठे वादे किए, जनता को सब्जबाग दिखाया और आज भी वह संवेदनहीन हैं. उनके खिलाफ लड़ाई में हमारे साथ सत्य और जनता का आशीर्वाद है.”