नई दिल्ली: कांग्रेस ने चुनाव आयोग से भाजपा के उम्मीदवार बी श्रीरामुलू के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगने के बाद कर्नाटक विधानसभा चुनाव में उनकी उम्मीदवारी रद्द करने की मांग की है. देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) के एक रिश्तेदार को श्रीरामुलू द्वारा कथित तौर पर घूस देने की कोशिश करने से संबंधी एक वीडियो सोशल मीडिया में गुरुवार को वायरल होने के बाद कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल और रणदीप सुरजेवाला ने आयोग से इस मामले में एफआईआर दर्ज कर उपयुक्त कार्रवाई करने की मांग की. Also Read - संस्कृति मंत्री और बीजेपी नेता उषा ठाकुर ने कहा- मध्य प्रदेश का उपचुनाव देशभक्त और देशद्रोहियों के बीच है

Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ यूपी की सड़कों पर उतरे कांग्रेस कार्यकर्ता, प्रदेश अध्यक्ष लल्लू गिरफ्तार

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पार्टी की तरफ से आयोग के समक्ष इस मामले में याचिका दर्ज करने के बाद पत्रकारों को बताया कि हमने आयोग से कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार के रूप में दो सीटों से चुनाव लड़ रहे श्रीरामुलू की उम्मीदवारी रद्द कर चुनाव लड़ने से अयोग्य ठहराने की मांग की है. उन्होंने बताया कि मीडिया में इस मामले का प्रकाशन और प्रसारण रोकने के लिए गुरुवार को कर्नाटक के मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा जारी किये गये आदेश को भी रद्द करने की आयोग से मांग की है. जिससे मीडिया निष्पक्षता और निर्भीकता से अपना काम कर सके. Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन, हिरासत में लिए गए गुजरात कांग्रेस प्रमुख समेत 100 लोग

कर्नाटक चुनावः पीएम का कांग्रेस पर वार, कहा- न दलितों की परवाह की, न अंबेडकर का सम्मान

2010 का वीडियो हुआ है वायरल

उल्लेखनीय है कि इस मामले में जारी किये गये दो वीडियो में साल 2010 में भाजपा नेता श्रीरामुलू और जी जनार्दन रेड्डी पूर्व सीजेआई के रिश्तेदार को घूस की रकम के लेनदेन के बारे में बातचीत करते दिखाये गये हैं. वीडियो का प्रसारण गुरुवार को कर्नाटक के एक स्थानीय चैनल पर भी किया गया. इसके बाद मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने उक्त चैनल को इसके प्रसारण पर रोक लगाने का निर्देश जारी कर दिया. सिब्बल ने बताया कि कर्नाटक चुनाव में सोशल मीडिया के मार्फत नफरत फैलाने वाली मुहिम चलायी जा रही है. इसमें कांग्रेस और पाकिस्तान के झंडे एक साथ दिखाये जा रहे है.

कल होना है मतदान

सिब्बल ने शनिवार को होने वाले मतदान में अब सिर्फ एक दिन शेष होने का हवाला देते हुये आयोग से इस तरह के अभियान पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि अगर इस दिशा में आयोग द्वारा तत्काल कारगर पहल नहीं की गयी तो समूची निर्वाचन प्रक्रिया की निष्पक्षता संदेह के घेरे में आ जायेगी. सुरजेवाला ने कहा कि कल जारी हुए वीडियो से एक बार फिर साफ हो गया कि कर्नाटक की पूर्व येदुरप्पा सरकार के कार्यकाल में 35000 करोड़ रुपये का खनन घोटाला हुआ. उन्होंने कहा तथ्यों और सबूतों से पता चला है कि इस मामले में भाजपा नेताओं श्रीरामुलू और रेड्डी की संलिप्तता को देखते हुये इनके खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून और भारतीय दंड संहिता के तहत तत्काल मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया जाये.