Protest Against Kiran Bedi: पुडुचेरी की राज्यपाल किरण बेदी (Kiran Bedi) के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है. किरण बेदी (Kiran Bedi) को पद से हटाने की मांग की जा रही है. किरण बेदी पर आरोप लगाया जा रहा है कि वह निर्वाचित सरकार की विकास योजनाओं तथा कल्याणकारी योजनाओं को बाधित कर रही हैं. ये प्रदर्शन सत्तारूढ़ कांग्रेस नीत धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गठबंधन (SDA) द्वारा किया जा रहा है. कांग्रेस के किरण बेदी पर कई आरोप है. प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) और किरण बेदी ने पुडुचेरी (Puducherry) को तमिलनाडु (Tamil Nadu) में मिलाकर इसका अलग दर्जा खत्म करने का षड़यंत्र रचा है.Also Read - सिद्धू के बाद पंजाब के CM ने कहा- पाकिस्तान से व्यापार शुरू हो, मैं केंद्र को पत्र लिखूंगा

सीएम ने पीएम मोदी (PM Modi) और किरण बेदी पर पुडुचेरी की जनता को उनके अधिकारों से वंचित करने के लिये प्रयासरत होने का आरोप लगाया. मुख्यमंत्री ने अपने भावुक संबोधन में प्रदर्शन में शामिल लोगों से कहा, अपने अधिकारों के लिये हमारी लड़ाई चलती रहेगी. हम केन्द्र के किसी भी कदम से नहीं डरने वाले हैं. एसडीए ने पहले राज निवास (उपराज्यपाल के कार्यालय-सह-निवास) का घेराव कर प्रदर्शन करने का फैसला किया था, लेकिन पुलिस से अनुमति नहीं मिलने के कारण वहां से एक किलोमीटर से अधिक दूर मराइमलाई अडिगाल सलाई में प्रदर्शन शुरू किया गया. Also Read - MP Panchayat Chunav: बीजेपी और कांग्रेस में इन मुद्दों पर हो रही तकरार, 'आरक्षण' ने बढ़ाई सरगर्मी

नारायणसामी ने कहा कि उपराज्यपाल को हटाने की लड़ाई शांतिपूर्वक होनी चाहिये. प्रदर्शन में पुडुचेरी से लोकसभा सदस्य वी वैथिलिंगम, कांग्रेस विधायक टी. जयमूर्ति, माकपा, भाकपा और वीसीके के नेता भी शामिल हुए. सत्तारूढ़ कांग्रेस के सहयोगी दल द्रमुक के नेता और कार्यकर्ता आंदोलन में शामिल नहीं हुए. प्रदर्शन में उनकी अनुपस्थिति के कारण का तत्काल पता नहीं चला है.केंद्र ने कानून-व्यवस्था कायम रखने के लिए यहां केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के कर्मियों को तैनात किया है. Also Read - गद्दार कहने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिग्विजय सिंह को दिया करारा जवाब, याद दिलाया 'ओसामा जी...' बयान