नई दिल्लीः वरिष्ठ कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी की पत्नी अनीता सिंघवी ने आयकर विभाग को अपना जवाब दिया है. आयकर विभाग ने उन्हें नोटिस जारी कर हीरा कारोबारी नीरव मोदी के मालिकाना हक वाले स्टोर से खरीदे गए कुछ आभूषणों के बारे में जानकारी देने को कहा था. अधिकारियों ने बताया कि अनीता सिंघवी के अधिकृत प्रतिनिधि ने आयकर विभाग को उनका जवाब प्रस्तुत कर दिया है. अनीता को यह बताने को कहा गया था कि कुछ साल पहले नीरव की कंपनी से बहुमूल्य वस्तुओं और आभूषणों की खरीद के लिए उन्होंने कितनी नकदी दी थी और कितने रुपये का भुगतान चेक के जरिये किया गया था.Also Read - Pandora papers: सचिन तेंदुलकर, अनिल अंबानी सहित कई हस्तियों की विदेशों में संपत्ति का खुलासा

Also Read - PNB Scam: ब्रिटिश हाईकोर्ट ने नीरव मोदी को प्रत्यर्पण मामले में अपील करने की दी इजाजत

यह तत्काल पता नहीं चल सका है कि अपने स्पष्टीकरण में अनीता ने क्या लिखा है. नीरव मोदी के स्वामित्व वाले एक शोरूम से कथित रूप से छह करोड़ रुपए के आभूषण खरीदने के मामले में आयकर विभाग ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी की पत्नी अनीता सिंघवी को नोटिस भेजा था. सिंघवी ने परिवार के खिलाफ लगाए गए आरोपों को खारिज करते हुए आयकर विभाग की इस कार्रवाई को ‘परेशान करने वाला’ करार दिया था, क्योंकि उनका ताल्लुक विपक्षी दल से है. नोटिस में अनीता से पूछा गया है कि कुछ साल पहले हुई इस खरीदारी में कितनी रकम उन्होंने नकद दी थी और कितनी रकम चेक से दी थी. आयकर विभाग को इस बात का अंदेशा था कि इसके लिए अनीता ने डेढ़ करोड़ रुपए चेक से अदा किए थे और 4 करोड़ 80 लाख रुपए नकद दिए थे. Also Read - Mehul Choksi News: डोमनिका की कोर्ट से बेल मिलने के बाद मेहुल चोकसी पहुंचा एंटीगुआ एवं बारबुडा

सिंघवी ने सभी आरोपों को कर दिया था खारिज

सिंघवी ने ट्वीटर के माध्यम से उनके खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों से इंकार करते हुए कहा था कि वे झूठ हैं और कानून के अनुसार वह आयकर विभाग के नोटिस का जवाब देंगे. कांग्रेस नेता ने लिखा था कि किसी की कंप्यूटर इंट्री के आधार पर मेरी पत्नी के खिलाफ कथित रूप से नकद आभूषण खरीद का आरोप लगाया गया है जो साक्ष्य नहीं है. एक करोड़ 56 लाख रुपए की पूरी रकम चेक से अदा की गई है और रसीद के साथ देश के सबसे बड़े टैक्स पेयर (स्वयं सिंघवी) के साथ लेखाबद्ध है.

इससे पहले नीरव मोदी और मेहुल चोकसी द्वारा अंजाम दिए गए 11400 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी और अभिषेक मनु सिंघवी को घसीट लिया था. सीतारमण के आरोपों के बाद सिंघवी ने सफाई देते हुए उन पर मानहानि का केस ठोकने की चेतावनी भी दे डाली. सिंघवी ने अद्वैत होल्डिंग में पत्नी और बेटे की भागीदारी पर सफाई देते हुए कहा कि इस कंपनी की परेल में एक प्रॉपर्टी है जैसे कि बाकी जगहों पर भी है. बहुत साल पहले नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टोन ने ये जगह किराए पर ली थी. ना अद्वैत और ना ही मेरे परिवार के किसी सदस्य का नीरव मोदी या फायरस्टोन से नाता है. फायरस्टोन ने परेल कमला मिल्स परिसर दिसंबर 2017 में खाली कर दिया था.

(इनपुट पीटीआई)