नई दिल्लीः जब से भारत सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून(CAA) लागू किया है तब से ही पूरे देश के कई हिस्सों में इसको लेकर विरोध हो रहा है. सीएए के विरोध में सबसे पहले आग भारत के उत्तर पूर्वी राज्यों में लगी और देखते देखते यह देश के दूसरे हिस्सों में फैल गई. कई लोग ऐसे हैं जो अलग अलग तरीकों से इसका विरोध जता रहे हैं.अब सीएए के विरोध में एक नया वाकया सामने आया है, जो आपको थोड़ी सी हंसी भी देगा. इस सयम सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल(Viral Video) हो रहा है जिसमें एक शख्स कब्रिस्तान में बैठकर रो रहा है और वह नागरिकता कानून के बारे में कुछ बाते कर रहा है.

दरअसल यह कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी के नेता हसीब अहमद है जो कि कब्रिस्तान पहुंचे और अपने पूर्वजों की कब्र के पास बैठकर रो रहे हैं. वे उस जगह पर खड़े होकर कब्र से बोलते हैं कि आप ने हमारी नागरिकता का सबूत कहां रखा है.

वायरल वीडियों में देखा जा सकता है कि हसीब अहमद कह रहे हैं कि अब हमारे पास कुछ नहीं बचा क्योंकि हमारे पास यहां के सबूत नहीं है. वे कह रहे हैं कि दशकों से हमारी पीढ़ियां यहा रह रही और न जाने कितनी पीढ़ियां यहीं दफ्न हुई हैं.

वीडियो के अनुसार, कांग्रेस के कार्यकर्ता कब्रिस्तान में कैमरे के सामने रोने लगे. करीब आधा दर्जन कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की आंखों से आंसू निकल आए. इस दौरान कांग्रेस नेता हसीब अहमद ने कहा कि सरकार उन्हें डिटेंशन सेंटर भेजने से पहले उनके पुरखों की कब्रों को भी डिटेंशन सेंटर में शिफ्ट करे.

वहीं जब भारतीय जनता पार्टी से इस बारे में पूछा गया तो उनका कहना है कि यह केवल एक ड्रामा है. कांग्रेस नेता के इस रवैये पर सोशल मीडिया में भी कई तरह रिएक्शन आ रहे हैं. लोगों का कहना है कि आज कांग्रेस पार्टी इतना नीचे गिर गई है कि अब वह राजनीति के लिए अपने पुरखों की कब्र तक को नहीं बख्स रही है.