नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने गुरूवार को कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर ‘महागठबंधन’ का प्रयास आसान नहीं होगा. सिब्बल ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिए विपक्षी दलों के बीच एकता का आह्वान किया.

पीटीआई को दिए गए साक्षात्कार में सिब्बल ने कहा कि सभी दलों का साथ आना सबसे सही रहेगा, लेकिन वर्तमान में लोकसभा में कम सीटों वाली कांग्रेस अपनी शर्तें नहीं रख सकती है. इसलिए उसे केन्द्र में गैर-भाजपा सरकार बनाने के लिए राज्यों में गठबंधन करने होंगे. अपनी किताब ‘शेड्स ऑफ टूथ’ के विमोचन से पहले सिब्बल ने कहा कि महागठबंधन आज कहां है? राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन बनाने का प्रयास आसान नहीं होगा.

बता दें कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश चुनाव में सपा के साथ गठबंधन किया था. हालांकि, इस चुनाव में उसे उम्मीद के अनुसार सफलता नहीं मिली और बीजेपी पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में कामयाब हो गई. तब से ये कहा जा रहा है कि विपक्ष को बिहार चुनाव की तर्ज पर बीजेपी के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर गठबंधन करने की जरूरत है. इसके लिए समान विचारधारा वाली पार्टियों को एक मंच पर आना होगा.

कर्नाटक चुनाव के बाद कुमार स्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में मजबूत विपक्ष को दिखाने की कोशिश की गई थी. इसमें ममता बनर्जी से लेकर, शरद पवार, शरद यादव, तेजस्वी यादव, मायावती और अखिलेश यादव पहुंचे थे.