नई दिल्‍ली: राहुल गांधी के कांग्रेस अध्‍यक्ष के पद से इस्‍तीफे की आधिकारिक घोषणा के बाद भी पार्टी के कई नेताओं को लग रहा है कि उनके अनुरोध पर राहुल गांधी प्रेसिडेंट बने रहेंगे. लोकसभा चुनाव के बाद से अपने इस्तीफे को लेकर बनी असमंजस की स्थिति और अटकलों पर विराम लगाते हुए गांधी ने बुधवार को त्यागपत्र की औपचारिक घोषणा कर दी और पार्टी को सुझाव दिया कि नया अध्यक्ष चुनने के लिए एक समूह गठित किया जाए, क्योंकि उनके लिए यह उपयुक्त नहीं है कि इस प्रक्रिया में शामिल हों. चुनावी हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी की भविष्य के विकास के लिए उनका इस्तीफा देना जरूरी था.

कांग्रेस के अंतरिम अध्‍यक्ष बनने के सवाल पर मोती लाल वोरा बोले- इसकी मुझे जानकारी नहीं

राहुल गांधी के इस्‍तीफे के बाद कांग्रेस के कुछ नेताओं ने उम्‍मीद जताई है कि वे आगे भी पार्टी अध्‍यक्ष बने रहने की उनकी बात पर जरूर विचार करेंगे और मान भी जाएंगे. राहुल के अध्‍यक्ष पद से 4 पेज के लिखित इस्‍तीफे के बाद पार्टी के अंतरिम अध्‍यक्ष के लिए सीनियर नेता मोतीलाल वोरा ने जहां इस बारे में किसी तरह की जानकारी होने से इनकार कर दिया, वहीं, उन्‍होंने कहा कि हम राहुल गांधी से एक बार फिर निवेदन करेंगे कि वह पार्टी के अध्‍यक्ष बने रहें.

बता दें राहुल गांधी के कांग्रेस अध्‍यक्ष के पद से इस्‍तीफे की आधिकारिक घोषणा और बयान के बाद बुधवार को सोशल मीडिया में अंतरिम अध्‍यक्ष के लिए पार्टी के सीनियर बुजुर्ग नेता मोतीलाल वोरा का नाम ट्रेंडिंग में आया गया . एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मोतीलाल वोरा से जब उनके अंतरिम अध्‍यक्ष बनने को लेकर सवाल किया गया तो उन्‍होंने कहा, मेरे पास कोई इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

राहुल गांधी ने 4 पेज का पत्र लिखकर इस्‍तीफे की घोषणा की, कहा-पार्टी नया अध्‍यक्ष बनाए

वहीं, जितिन प्रसाद ने कहा, ​​उन्होंने (राहुल गांधी) जो भी पत्र में लिखा है और पार्टी की कमियों, उस सबका भविष्य को ध्यान में रखते हुए काम किया जाना चाहिए और हम उनसे अपील करते हैं कि वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करें.

मैं कांग्रेस अध्यक्ष नहीं, जल्द हो नए प्रेसिडेंट का चुनाव: राहुल गांधी

कांग्रेस सूत्रों ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की ओर से त्यागपत्र स्वीकार करने और नए अध्यक्ष का चुनाव होने तक गांधी इस पद पर बने रहेंगे.

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने राहुल गांधी के कांग्रेस अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफे पर निराशा जताई है. उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी का पार्टी का नेतृत्‍व उसी गतिशीलता और जुझारू भावना के साथ जारी रखना चाहिए, जिस उत्‍साह के साथ उन्‍होंने चुनावी अभियान की शुरुआत की थी.

कैप्‍टन ने कहा कि पार्टी के लिए यह कठिन वक्‍त है, लेकिन संगठित होकर हम इससे आगे जाएंगे और मजबूत और विशाल होंगे. राहुल का विजन लगातार हमें गाइड करेगा.

कांग्रेस में नेतृत्‍व का संकट, सोनिया गांधी से 40 मिनट तक अशोक गहलोत ने की मुलाकात