नई दिल्ली: कांग्रेस ने डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत 69 के पार चले जाने को ‘भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए काला दिन’ करार दिया और सवाल किया कि क्या रुपये के अवमूल्यन से ध्यान भटकाने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो चुनिंदा ढंग से जारी किया गया. पार्टी ने यह आरोप भी लगाया कि ‘फर्जी राष्ट्रवादी’ भाजपा हमारे जवानों की बहादुरी और बलिदान का राजनीतिक और चुनावी फायदा उठाने को आतुर है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा, ‘ ऐसा लगता है कि यह सरकार सेना की वीरता का उपयोग अपनी नाकामियां छिपाने के लिए कर रही है. रुपया आज 69 के पार चला गया. आज भारत की अर्थव्यवस्था का काला दिन है. क्या इससे ध्यान हटाने के लिए यह वीडियो चुनिंदा ढंग से जारी किया गया? Also Read - ममता बनर्जी को 5 अगस्त को लॉकडाउन वापस न लेने की कीमत चुकानी पड़ेगी: बीजेपी

आर्थिक नीतियों के लिए माफी मांगे मोदी
उन्होंने कहा कि मोदी को माफी मांगनी चाहिए कि उनकी गलत आर्थिक नीति के कारण रुपये का अवमूल्यन इस तरह हुआ है. नोटबंदी के बाद मनमोहन सिंह ने जो कहा था, वही हो रहा है. किसके दबाव में अर्थव्यवस्था को बर्बाद किया जा रहा है. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के आरोपों पर तिवारी ने कहा कि भाजपा की सरकार आतंकवाद के सामने सबसे बुजदिल सरकार रही है. इन्हीं की सरकार में तीन खूंखार आतंकवादियों को चार्टर्ड प्लेन में ले जाकर अफगानिस्तान छोड़ा गया था. इनमें से एक मौलाना मसूद अजहर भी था जिसका आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद कश्मीर में बेगुनाहों की जान ले रहा है. Also Read - कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल राम मंदिर के लिए देंगे 21 हज़ार रुपए, कहा- धार्मिक हूं, कट्टरपंथी नहीं

आतंक के सामने घुटने टेकने वाले ज्ञान दे रहे हैं
उन्होंने कहा कि जिन्होंने आंतकवाद के सामने घुटने टेके हैं वो कांग्रेस को सन्देश दे रहे हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर सोनिया गांधी ने 29 सितंबर के अपने बयान में जो बात कही थे, वही पार्टी की राय है. भारतीय जवानों की शौर्य गाथा को शत शत प्रणाम. उन्होंने कहा, ‘यह नौंवी सर्जिकल स्ट्राइक थी. अटल जी के समय भी हुई थी. किसी प्रधानमंत्री ने वीडियो जारी नहीं किया क्योंकि उनके लिए देशहित पार्टी हित से बड़ा था. मोदी जी के लिए पार्टिहित देशहित से बड़ा है. Also Read - Ram Mandir Photos: जब बनकर तैयार होगा तो इतना भव्य दिखेगा अयोध्या का श्रीराम जन्‍मभूमि मंदिर

सोनिया-राहुल ने किया था समर्थन
तिवारी ने कहा, ‘हमारी सेना का गौरवशाली इतिहास है.भारतीय सेना ने इंदिरा जी के नेतृत्व में पाकिस्तान के 94 हजार सैनिकों से समर्पण कराया था और भूगोल बदल दिया था. इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि 28-29 सितंबर, 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने पाकिस्तान में आतंकियों के खिलाफ इस कार्रवाई का और हमारे देश के खिलाफ आतंकी मंसूबे नाकाम करने के लिए उठाए गए कदमों को लेकर भारतीय सेना और सरकार का संपूर्ण समर्थन किया था. उन्होंने कहा, ‘सत्ताधारी दल को याद रखना होगा कि हमारे साहसी सैनिकों के अमूल्य बलिदान को मोदी सरकार और भाजपा राजनीतिक लाभ के लिए वोट हासिल करने का साधन नहीं बना सकते.

कब-कब हुआ सर्जिकल स्ट्राइक
कांग्रेस नेता ने कहा कि हमारी बहादुर सेना ने पिछले दो दशकों में अनेकों बार सफलतापूर्वक ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ की हैं, खास तौर से साल 2000 के बाद- 21 जनवरी, 2000 (नडाला एंक्लेव, नीलम नदी के पार); 18 सितंबर, 2003 (बारोह सेक्टर, पुंछ); 19 जून, 2008 (भट्टल सेक्टर, पुंछ); 30 अगस्त-1 सितंबर, 2011 (शारदा सेक्टर, केल में नीलम नदी घाटी); 6 जनवरी, 2013 (सावन पत्र चेकपोस्ट); 27-28 जुलाई, 2013 (नाजापीर सेक्टर); 6 अगस्त, 2013 (नीलम घाटी) को सेना ने कार्रवाई की थी.