भोपाल: मध्य प्रदेश में व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले की जांच को प्रभावित किए जाने से रोकने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग को लेकर गुरुवार को विपक्षी कांग्रेस द्वारा बुलाए गए प्रदेश बंद को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने विफल करार दिया। साथ ही सड़क पर उतरे दिग्विजय सिंह सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को ‘सड़क छाप नेता’ करार दिया। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा कि राज्य के लोगों का कांग्रेस के बंद को समर्थन नहीं मिला है। राज्य के सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले रहे। इसके लिए पार्टी व्यापारियों का आभार जताती है। यह भी पढ़े:अंतर्राज्यीय बिजली पारेषण प्रणाली को कैबिनेट की मंजूरी: अरुण जेटलीAlso Read - Video: लालू यादव के बयान पर बोले नीतीश कुमार- 'वह मुझे गोली मरवा सकते हैं और...'

Also Read - MP: महिला नेता से रेप के आरोप में कांग्रेस विधायक का बेटा अरेस्‍ट, पीड़िता ने निष्पक्ष जांच की मांग

बंद को विफल बताने की औपचारिकता निभाते हुए चौहान ने राजधानी भोपाल में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह के सड़क पर उतरकर बंद कराने पर चुटकी ली। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं को सड़क छाप नेता बनकर बंद कराना पड़ा है। इसके बाद भी जनता और व्यापारियों ने उनका साथ नहीं दिया। चौहान ने दावा किया कि राज्य में कहीं भी व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद नहीं रहे और बंद सफल नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने बंद को सफल बनाने की हर संभव कोशिश की, मगर कामयाबी नहीं मिली। Also Read - MP के गृह मंत्री की चेतावनी के बाद Dabur ने वापस लिया करवा चौथ पर बना ऐड, बिना शर्त माफी मांगी