नई दिल्ली. कांग्रेस पर नोटबंदी के मुद्दे पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने दावा किया कि इस कदम से काला धन बैंकों में जमा हुआ, आयकर संग्रह में वृद्धि हुई और बिना लेखा जोखा वाले बेहिसाबी धन का लेखाजोखा हो सका. बीजेपी प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने यहां कहा कि नोटबंदी की सबसे बड़ी सफलता यह है कि अनएकाउंटेड मनी अब काउंटेड हो गया यानी बिना लेखा जोखा वाले बेहिसाबी धन का लेखाजोखा हो सका.

बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि इससे मुखौटा कंपनियों पर कार्रवाई करने में मदद मिली और डिजिटल भुगतान को बढ़ावा मिला. उन्होंने कहा कि नवम्बर 2016 में की गई नोटबंदी के कारण काले धन का पता लगाने में मदद मिली और कई लाख संदिग्ध बैंक खातों को जांच के तहत लाने की पहल की गई. उन्होंने कहा कि आयकर नहीं भरने वाले 2.09 लाख से अधिक लोगों ने अपना रिटर्न दाखिल किया और कर संग्रह में 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई. पांच लाख से अधिक मुखौटा कंपनियां बंद हो गईं.

हुसैन ने कहा कि कर अदा न करने वालों की तादाद करीब करीब दोगुना हो गई है. इसके बावजूद कांग्रेस इस विषय पर देश की जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रही है लेकिन जनता हकीकत को समझती है. आरबीआई ने कहा था कि 500 और 1,000 रुपये के चलन से बाहर हुए 99.3 प्रतिशत नोट बैंकिग प्रणाली में वापस आ गये हैं. इसके बाद कांग्रेस ने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से माफी मांगने की मांग की है.