बेंगलुरु: कांग्रेस विधायक जे एन गणेश को बुधवार को गुजरात के सोमनाथ में एक रेस्तरां के समीप से पुलिस ने गिरफ्तार किया. गणेश अपने ही साथी विधायक से मारपीट के मामले में कई हफ्तों से फरार चल रहे थे. गणेश शहर के बाहरी इलाके में इगलटन रिसोर्ट में 20 जनवरी को आनंद सिंह पर हमले के बाद फरार हो गये थे. दोनों बेल्लारी जिले से हैं. कांग्रेस ने अपने विधायकों को भाजपा की खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए यहां ठहराया हुआ था.

कर्नाटक के गृह मंत्री एम बी पाटिल ने बताया कि उन्हें दो बजे गिरफ्तार किया गया. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, उन्हें उड़ान से रात को लाया जाएगा. पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार गणेश ने सिंह पर कथित रूप से घूसों और फूलदान से हमला किया था. उनकी नाक और सीने में चोट लगी थी.

रामनगर जिले के पुलिस अधीक्षक रमेश बहनोत ने कहा कि गणेश को दोपहर को उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वह सोमनाथ मंदिर के समीप खाना खाने जा रहे थे. बहनोत ने मीडियाकर्मियों से कहा, हमने तीन दिन पहले गुजरात एक टीम भेजी थी. हमें सूचना मिली थी कि वह वहां एक होटल में ठहरे हुए हैं. एसपी बहनोत ने कहा, आज हमारी टीम को खबर मिली कि वह एक होटल में खाना खाने के लिए सोमनाथ मंदिर के समीप हैं. जब उन्होंने अपनी गाड़ी रोकी, तब हमने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

एसपी ने बताया कि पुलिस दल आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और दिल्ली भेजे गए थे. बहनोत ने कहा कि उनके साथ तीन लोग थे, दो कर्नाटक के और एक गुजरात का उनका दोस्त.

मारपीट के बाद गंभीर रूप से घायल सिंह को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सिंह की शिकायत पर पुलिस ने गणेश के खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया था. गिरफ्तारी के डर से कांग्रेस विधायक गणेश राज्य विधानमंडल के अहम बजट सत्र में शामिल नहीं हुए थे, जबकि विधायकों को पार्टी की ओर से व्हिप भी जारी किया गया था.