नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पाकिस्तान में ननकाना साहिब पर भीड़ द्वारा पथराव एवं नारेबाजी की घटना की निंदा करते हुए शनिवार को कहा कि इस मामले में दोषियों पर कार्रवाई के लिए भारत सरकार को पाकिस्तान पर दबाव बनाना चाहिए. सोनिया ने एक बयान जारी कर ननकाना साहिब पर भीड़ द्वारा किए गए ‘अवांछित और अकारण हमले’ की निंदा की. Also Read - तैयारी के लिए एक साल से ज्यादा समय था लेकिन इसके बावजूद सरकार लापरवाह रही: सोनिया गांधी

सिख श्रद्धालुओं और इस पवित्र स्थल के कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि भारत सरकार इस मामले को तत्काल पाकिस्तान की सरकार के समक्ष उठाए ताकि श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके और आगे से किसी हमले को रोका जा सके. Also Read - सोनिया गांधी ने बुलाई कांग्रेस कार्य समिति की बैठक, देश में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर करेंगी चर्चा


सोनिया ने कहा कि सरकार को अपराधियों के खिलाफ तत्काल मामला दर्ज करने, उनकी गिरफ्तारी एवं कार्रवाई के लिए भी सरकार को दबाव बनाना चाहिए. गौरतलब है कि पाकिस्तान में सिख किशोरी से शादी करने वाले एक मुस्लिम व्यक्ति के परिवार की अगुवाई में कुछ लोगों ने अपने रिश्तेदारों की गिरफ्तारी के विरोध में शुक्रवार को यहां गुरद्वारा जन्मस्थान ननकाना साहिब के बाहर प्रदर्शन किया.


खबरों के अनुसार भीड़ ने गुरद्वारे पर धावा बोल दिया और सिख श्रद्धालुओं पर पथराव किया. भारतीय विदेश मंत्रालय ने घटना की निंदा की है.

(इनपुट भाषा)