नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से मांग की है कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट के परीक्षार्थियों के डेटा में ‘व्यापक तौर पर सेंध लगने’ के मामले में जांच कराई जाए. इसके साथ ही उन्होंने जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की है. उन्होंने मीडिया में आई खबरों का हवाला देते हुए सीबीएसई प्रमुख अनीता करवाल को लिखे पत्र में यह भी कहा है कि बोर्ड यह सुनिश्चित करे कि आगे से इस तरह छात्रों की निजता के साथ समझौता नहीं होगा. Also Read - राहुल गांधी का PM मोदी पर हमला- पहली बार दशहरा में 'रावण' नहीं, प्रधानमंत्री का पुतला जलाया गया

गांधी ने कहा, मैं उस हालिया मीडिया रिपोर्ट की ओर आपका ध्यान आकर्षिक करना चाहता हूँ. इसमें कहा गया है कि नीट के परीक्षार्थियों के निजी डेटा में बड़े पैमाने पर सेंध लगाई गई और दो लाख छात्रों का डेटा कुछ वेबसाइट पर बिक्री के लिए उपलब्ध हैं. उन्होंने कहा, मैं इतने बड़े पैमाने पर छात्रों का निजी डेटा की चोरी से स्तब्ध हूं. यह परीक्षार्थियों की निजता की सुरक्षा में गंभीर खामी को दर्शाता है और परीक्षा प्रक्रिया की शुचिता बनाये रखने की सीबीएसई की क्षमता पर प्रश्नचिन्ह खड़े करता है. Also Read - NEET Toppers: सीएम योगी ने कहा- NEET टॉपर आकांक्षा की पढ़ाई का पूरा खर्च उठाएगी सरकार, एक मुश्त दी जाएगी पूरी रकम 

उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच कराई जाए, जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हो और यह सुनिश्चित किया जाए कि आगे ऐसा नहीं होगा. बता दें कि एमबीबीएस और बीडीएस के पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए नीट परीक्षा का आयोजन किया जाता है. इस साल नीट परीक्षा छह मई को हुई और नतीजे चार जून को घोषित किए गए. Also Read - NEET 2020 Counselling: MCC ने पोस्टपोन किया NEET 2020 का काउंसलिंग, जानें कब से शुरू होगी पंजीकरण प्रक्रिया