नई दिल्लीः पूरे देश में 17 मई तक लॉकडाउन है. लॉकडाउन का यह तीसरा चरण तीन मई से शुरू हुआ है. लॉकडाउन का सबसे अधिक असर छोटे कामगारों और प्रवासी मजदूरों पर पड़ा है. इस बीच लॉकडाउन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी नें केंद्र सरकार पर निशाना साधा. पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूछा कि 17 मई को लॉकडाउन खत्म हो जाएगा इसके बाद सरकार की क्या प्लानिंग है. Also Read - Coronavirus In World Update: पूरी दुनिया कोरोना के खौफ में, अमेरिका में मौत का आंकड़ा 1 लाख के करीब, जानें बड़े देशों का हाल

सोनिया गांधी ने आज कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. इस बैठक में लॉकडाउन को लेकर जमकर चर्चा हुई और इसके क्रियान्वयन और रणनीति पर केंद्र सरकार से जमकर सवाल पूछे गए. सोनिया गांधी ने केंद्र पर वार करते हुए पूछा कि 17 मई के बाद सरकार की क्या प्लानिंग है. Also Read - लॉकडाउन को फेल बताने पर राहुल गांधी पर बीजेपी का पलटवार: झूठ नहीं फैलाएं, दुनिया के आंकड़े देखें

सोनिया गांधी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री के साथ कोरोना वायरस के हालात और महामारी से निपटने के लिए किए गए प्रयासों को लेकर चर्चा कर रही हैं. इसके साथ ही उन्होंने राज्यों में वापस आ रहे प्रवासी मजदूरों की व्यवस्थाओं की भी जानकारी ली.

बैठक में विपक्षी पार्टी के मुख्यमंत्रियों ने जमकर केंद्र सरकार पर आरोप लगाए. राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि हमने केंद्र सरकार से इस महामारी के संकट के समय राहत पैकेज की मांग की थी लेकिन केंद्र की तरफ से कोई मदद नहीं मिली.

बैठक के दौरान प्रवासी मजदूरों की वापसी और उनके रेल किराया को लेकर भी बात हुई. सोनिया गांधी ने कांग्रेस शासित राज्यों से कहा कि हमारे मजदूर भाइयों को इस महामारी के समय किसी प्रकार की समस्या नहीं होनी चाहिए. आपको बता दें कि हाल ही में सोमवार को सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार को निशाना साधते हुए कहा था कि अगर सरकार देश के श्रमिकों का भाड़ा नहीं दे पा रही है तो कांग्रेस उनकी वापसी का रेल किराया देगी.