नई दिल्ली: कांग्रेस ने व्हाट्सएप के जरिए जासूसी मामले में सरकार पर हमला तेज करते हुए प्रश्न किया कि क्या 2019 लोकसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी सरकार ने नागरिकों और नेताओं की जासूसी कराई थी. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रश्न किया कि क्या सत्ता में बैठे लोग आपराधिक षड्यंत्र के दोषी हैं और क्या सरकार को प्रतिष्ठित व्यक्तियों की जासूसी कराने के लिए अवैध स्पाईवेयर का इस्तेमाल होने जाने की जानकारी थी.

सुरजेवाला ने कहा, ‘व्हाट्सएप स्पाईगेट में चौंकाने वाले तथ्य- क्या बीजेपी सरकार 2019 के चुनाव से पहले नागरिकों और नेताओं की जासूसी करा रही थी.’ सुरजेवाला ने कहा, ‘क्या सरकार को मई 2019 से अवैध स्पाईवेयर की जानकारी थी?’ गौरतलब है कि व्हाट्सएप ने सितंबर में भारत सरकार को सूचित किया था कि इजराइली स्पाईवेयर पेगासस ने 121 भारतीय उपयोगकर्ताओं को निशाना बनाया था. लेकिन सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने तर्क दिया कि मैसेजिंग ऐप से प्राप्त जानकारी अपर्याप्त और अपूर्ण थी.

व्हाट्सएप से जुड़े सूत्रों ने कहा कि इस मैसेजिंग मंच ने सरकार द्वारा पिछले सप्ताह पूछे गए प्रश्न का जवाब अब दिया है. सरकार ने पेगासस स्पाईवेयर घटना पर स्पष्टीकरण मांगा है, जिसने भारत सहित दुनियाभर के पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की कथित रूप से जासूसी की थी.

(इनपुट-भाषा)