नई दिल्ली: कांग्रेस ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी की ओर से जारी घोषणापत्र को ‘जुमलाफेस्टो करार दिया और कहा कि जनता झूठ के इस पुलिंदे पर विश्वास नहीं करने वाली है. शुक्रवार को बीजेपी का घोषणापत्र जारी होने के कुछ देर बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि कर्नाटक में भाजपा का घोषणापत्र 2014 के मोदी के घोषणापत्र और ‘येदि-रेड्डी के 2018 के घोषणापत्र’का मिश्रण है. बता दें कि कांग्रेस बीजेपी के सीमए पद के उम्मीदवार बी एस येदियुरप्पा और रेड्डी बंधुओं का हवाला देने के लिए येदि-रेड्डी शब्दावली का इस्तेमाल करती है. Also Read - वैक्सीनेशन को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल, अधीर रंजन बोले- आम जनता के टीकाकरण के लिए कोई रोडमैप नहीं

सुरेजावाला ने आरोप लगाया, यह जुमलाफेस्टो है और झूठ का पुलिंदा है. उन्होंने कहा, न वचन की कीमत, न शब्दों पर यकीन, हारी हुई भाजपा की खिसकती जमीन.

बीजेपी ने ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र जारी किया. पार्टी ने प्रदेश में सरकार बनने के पर सिंचाई परियोजनाओं के लिए डेढ़ लाख करोड़ रुपए आवंटित करने और राष्ट्रीयकृत एवं सहकारी बैंकों से लिए गए एक लाख रुपए तक के कृषि ऋण माफ करने का वादा किया.

पार्टी के सीएम पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को घोषणापत्र यानी संकल्पपत्र ‘बीजेपी का वचन 4 कर्नाटका’ को लॉन्च करते हुए कहा कि यह कर्नाटक के उन लोगों की आकांक्षाओं को छूता है, जिन्होंने पिछले 5 वर्षों में अपनी आकांक्षाएं पूरा होने में हुई कठिनाइयों के समाधान की मांग की है. हम अपने अन्नदाता पर कर्ज के बोझ को कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हमारी पहली कैबिनेट मीटिंग में सरकारी बैंकों और सहकारी समितियों के 1 लाख रुपए तक का किसानों का कर्ज माफी कर दिया जाएगा. बीजेपी ने अपने संकल्पपत्र में बीपीएल दुल्हन को 25 हजार रुपए नकद के साथ 3 ग्राम सोने का मंगलसूत्र और गरीब महिलाओं को स्मार्टफोन देने के साथ ही कई वादे लोक लुभावने वादे किए हैं. (इनपुट एजेंसी)