नई दिल्ली: कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी ने शुक्रवार को राज्यसभा में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजु के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया. दरअसल, रिजिजू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुधवार को राज्यसभा में कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी की हंसी पर की गई टिप्पणी के संदर्भ में रामायण की पात्र शूर्पणखा के ठहाके वाला वीडियो साझा किया था. इस वीडियो को काफी लोगों ने शेयर भी किया है. इस बारे में चौधरी ने कहा कि यह बेहद आपत्तिजनक है. उन्होंने कहा कि वह पीएम के मजाक और इस बारे में रिजिजू के पोस्ट से आहत हैं. Also Read - शिवराज सिंह चौहान से लेकर देवेंद्र फडणवीस तक, इन दिग्गज नेताओं को राज्यसभा भेज सकती है भाजपा, 11 मार्च तक लिस्ट जारी होने की संभावना

Also Read - सस्पेंड होंगे स्मृति ईरानी को 'धमकाने' वाले कांग्रेसी सांसद? भाजपा ने स्पीकर ओम बिरला को नोटिस दिया

फेसबुक पर पोस्ट वीडियो में राक्षसी शूर्पणखा लक्ष्मण द्वारा नाक काटे जाने से पहले अट्टहास कर रही है. इस पर गुरुवार को रेणुका सहित कई कांग्रेस नेताओं ने आपत्ति जताई. मोदी के भाषण के दौरान अन्य कांग्रेस सांसद जहां ‘झूठा भाषण बंद करो’, ‘विपक्ष के सवालों का जवाब दो’ के नारे लगा रहे थे, वहीं रेणुका जोर-जोर से हंस रही थीं. सभापति एम. वेंकैया नायडू ने जब रेणुका को कार्रवाई की चेतावनी दी, तो मोदी ने कहा, “सभापति जी, उनको कुछ मत कहिए, ऐसी हंसी 1980 के दशक में धारावाहिक ‘रामायण’ के बाद आज ही सुनने को मिली है.” इसके बाद सत्तापक्ष के सभी सांसद ठहाके लगाने लगे. Also Read - ‘व्यभिचार पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला अवैध संबंध के लिए लोगों को लाइसेंस देगा’

रेणुका ने मोदी के इस दावे पर ठहाके लगाए कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान आधार पर विचार किया गया था, जिस पर मोदी ने उन पर (रेणुका) यह तंज कसा. मोदी ने उनकी हंसी की तुलना रामानंद सागर के धारावाहिक ‘रामायण’ की पात्र शूर्पणखा से की. शूर्पणखा लंका के राजा रावण की बहन थी, जिसने अपने अपमान का बदला लेने के लिए उसे (रावण को) सीता का हरण करने के लिए उकसाया था. रिजिजू के पोस्ट किए वीडियो को बाद में 800 यूजरों द्वारा शेयर किया गया. रेणुका चौधरी ने कहा कि यह संसद में एक महिला का प्रधानमंत्री और उनके मंत्री द्वारा अपमान है. इसके खिलाफ वह सदन में विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएंगी.