नई दिल्ली: कांग्रेस ने राफेल लड़ाकू विमानों के पहले जत्थे के भारत आने का स्वागत किया और साथ ही कई सवाल भी उठाये हैं. कांग्रेस ने कहा कि हर देशभक्त को यह पूछना चाहिए कि 526 करोड़ रुपये का विमान 1670 करोड़ रुपये में क्यों खरीदा गया. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘राफेल का भारत में स्वागत ! वायुसेना के जाबांज लड़ाकों को बधाई.’’ Also Read - PM Kisan Yojana: 14 मई को आएगी पीएम किसान की 8वीं किस्त, लिस्ट में ऐसे देखें अपना नाम

रणदीप ने कहा, ‘‘आज हर देशभक्त यह ज़रूर पूछे कि 526 करोड़ रुपये का एक राफेल अब 1670 करोड़ रुपये में क्यों ? 126 राफेल की बजाय 36 राफेल ही क्यों ? मेक इन इंडिया के बजाय मेक इन फ्रांस क्यों ? 5 साल की देरी क्यों ?’’ Also Read - Coronavirus: PM मोदी ने कोविड-19 स्थिति पर इन 4 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात

बता दें कि अब सभी राफेल विमान (Rafale Jets) अंबाला एयरबेस (Ambala Air Force Base) पहुंच चुके हैं. अंबाला एयर बेस पर पहुंचने का पहले जो टाइम सेट था मौसम खराबी होने की वजह से उसमें कुछ देर हुई. सभी विमानों का वायु सेना प्रमुख आर के एस भदौरिया ने स्वागत किया. इससे पहले जब राफेल विमानों ने भारतीय एयर स्पेस में एंट्री की तो INS कोलकाता कंट्रोल रूम ने उनका स्वागत किया. Also Read - प्रधानमंत्री की आलोचना के लिए भाजपा नेताओं ने सोरेन को लिया आड़े हाथ, बोले- सामान्य शिष्टाचार की समझ नहीं

सभी राफेल विमानों को दो बजकर 15 मिनट के आस पास पहुंचा था, लेकिन यूएई से टेकऑफ में देरी की वजह से अंबाला पहुंचने में राफेल विमानों को देरी हुई. अंबाला एयरफोर्स बेस पर पहुंचने के बाद पांचों राफेल विमानों ने अंबाला एयर बेस की परिक्रमा की. लड़ाकू विमानों के इस बेड़े ने सोमवार को फ्रांसीसी बंदरगाह शहर बोरदु के मेरिग्नैक एयरबेस से उड़ान भरी थी.

सूत्रों की मानें तो 20 अगस्त को राफेल विमानों की सेरेमनी हो सकती है जिसमें प्रधानमंत्री पीएम मोदी शिरकत कर सकते हैं. अभी इस बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है. वायु सेना के दो सुखोई विमान पाँचों राफेल विमान को अंबाला एयर फोर्स बेस तक लेकर पहुंचे हैं. राफेल विमानों की लैंडिंग को देखते हुए अंबाला एयर बेस के पास धारा 144 लागू लगा दी गई है. आज भारतीय सेना के लिए के गौरव का दिन है.