नई दिल्ली। कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि आयकर विभाग के साथ कर्नाटक के एक रिजॉर्ट पर छापे मारने गए केंद्रीय सुरक्षाबलों के कर्मियों ने वहां रुके हुए गुजरात के पार्टी विधायकों को डराने-धमकाने का प्रयास किया. पार्टी ने केंद्र के इस कदम को लोकतंत्र के लिए खतरनाक बताते हुए दावा कि उनके नेता अहमद पटेल को राज्यसभा चुनाव में हराने के लिए हर तरह की साजिश रची जा रही है.Also Read - UP Assembly Polls 2022: भाजपा ने जारी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट, पीएम मोदी और अमित शाह सहित 30 नाम शामिल | देखिए

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज संवाददाताओं से कहा कि हमारी जानकारी के अनुसार केंद्रीय सुरक्षाबलों के कर्मियों ने कर्नाटक के रिजॉर्ट स्थित चार कमरों में गुजरात के विधायकों को बुलाकर उनसे तमाम तरह की पूछताछ की. उनसे कहा गया कि वे कर्नाटक में क्यों आए हैं और क्या करने आए हैं. खड़गे ने कहा कि एक ओर गुजरात सरकार कांग्रेस के इन विधायकों को वहां ढंग से रहने नहीं दे रही है और यहां जब वह सुरक्षित स्थान की दृष्टि से आए हैं तो उन्हें केंद्रीय बलों के जरिए परेशान किया जा रहा है. Also Read - Assembly Elections 2022: भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति की आज अहम बैठक, उम्मीदवारों के नाम पर लगेगी मुहर

पढ़ें- आईटी छापा: कांग्रेस को जेटली का जवाब, रिजॉर्ट में कागज फाड़ रहे थे कांग्रेस नेता Also Read - GOA Election 2022: पी चिदंबरम ने AAP और TMC को बताया 'वोटकटवा', दिल्ली CM बोले- रोना बंद कीजिए

 आयकर विभाग ने कर चोरी के एक मामले से जुड़ी अपनी जांच के सिलसिले में आज कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार के कर्नाटक और दिल्ली स्थित कई ठिकानों की तलाशी ली, जिनकी मेजबानी में बेंगलूर के निकट एक रिजॉर्ट में गुजरात के 44 कांग्रेस विधायक ठहरे हुए हैं.

एक सवाल के जवाब में खड़गे ने वित्त मंत्री अरूण जेटली द्वारा राज्यसभा में किए गए इस दावे को गलत बताया कि रिजॉर्ट में रुके गुजरात के विधायकों से केंद्रीय बलों ने कोई पूछताछ नहीं की. कांग्रेस नेता ने कहा कि उनके पास इस बात की सूचना है कि केंद्रीय बलों ने उनसे पूछताछ की थी.

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि केंद्र सरकार गुजरात से लेकर बेंगलूर तक परोक्ष रूप से भय का माहौल कायम करने का प्रयास कर रही है. उन्होंने दावा किया कि पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल राज्यसभा चुनाव में जीतने जा रहे हैं. उन्होंने दावा किया कि पटेल को हराने के लिए सरकार धन बल, बाहुबल और ‘मोदी बल’ का इस्तेमाल कर रही है.