नई दिल्ली: राजस्थान में सियासी संकट फिलहाल टल गया है. कांग्रेस सरकार बचती दिख रही है, इस बीच सचिन पायलट को लेकर कांग्रेस अपना रुख बेहद तल्ख़ भी किए है और उन्हें वापस आने को भी कह रही है. पिछले कुछ दिन से चल रहे सियासी संकट के बीच कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता और कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सचिन पायलट परिवार में आयें और बात करें. अगर सचिन पायलट (Sachin Pilot) बीजेपी में नहीं जाना चाहते हैं तो बीजेपी की हरियाणा में मेजबानी तुरंत अस्वीकार करें. अगर नहीं जाना चाहते हैं तो तुरंत बीजेपी के चंगुल से बाहर आयें. बीजेपी के किसी भी नेता से वार्ता बंद कर दीजिये. और वापस जयपुर अपने घर आ जाइए. Also Read - सुशांत सिंह राजपूत मामले पर कांग्रेस ने दी नसीहत, तो भाजपा ने किया घेराव, दागे ये 7 सवाल

मीडिया के माध्यम से वार्तालाप बंद करिए. अपने परिवार में आइये और अपनी बात रखिये. अपनी बात कहिये, यही आपकी निष्ठा कांग्रेस के प्रति होगी. कांग्रेस के दरवाजे उनके लिए अब भी खुले हैं. सचिन को कांग्रेस ने काफी आगे बढ़ाया. होनहार हैं, लेकिन सचिन ने पार्टी के प्रति निष्ठा नहीं दिखाई. भारी मन से हमें सचिन पायलट के प्रति ऐसा फैसला लेना पड़ा. Also Read - नई शिक्षा नीति को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- मानव विकास और ज्ञान के विस्तार का मूल लक्ष्य है नदारद

रणदीप ने कहा कि परिवार में खुल के बात करें सचिन पायलट से वापसी का बार-बार आग्रह किया गया, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. वह मीडिया के माध्यम से सन्देश देते रहे. उन्हें विधायक दल की दो बैठकों में बुलाया गया लेकिन वह नहीं आए. आलाकमान ने पायलट को लेकर काफी उदारता दिखाई. अपना पक्ष रखने को कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. मजबूरी में हमें बड़े फैसले करने पड़े. उन्होंने कहा कि राजस्थान में सरकार गिराने की कोशिश की गई. Also Read - Video: सीएम गहलोत बोले- प्रधानमंत्री मोदी राजस्थान में हो रहे 'तमाशे' को बंद करवाएं