बेंगलुरु: कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के 15 विधायकों के भाजपा के संपर्क में होने के दावे को कांग्रेस ने खारिज कर दिया है. कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख दिनेश गुंडु ने इस दावे को लोगों को गुमराह करने वाला बताया है. गौरतलब है कि बुधवार को भाजपा विधायक उमेश कत्ती ने दावा किया था कि कांग्रेस-जनता दल सेक्युलर गठबंधन के 15 विधायक उनके संपर्क में है और अगर वह भाजपा में शामिल होना चाहें पार्टी उनका स्वागत करने के लिये तैयार है.

इस दावे पर कांग्रेस के राज्य प्रमुख ने कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो भाजपा अध्यक्ष को अपने पद से इस्तीफा देना होगा. आठ बार से विधायक कत्ती ने दावा किया था कि भाजपा अगले सप्ताह तक नई सरकार का गठन कर लेगी. कत्ती ने यह बयान ऐसे समय में दिया है जब कहा जा रहा है कि कांग्रेस के कुछ विधायक हालिया मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज हैं.

हाल ही में मंत्रिमंडल से बाहर किये गए वरिष्ठ नेता रमेश जरकिहोली पार्टी से इस्तीफा देने की धमकी दे चुके हैं. उन्होंने इस हफ्ते के आखिर में अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर फैसला लेने की बात कही थी. हालांकि मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कहा है कि कोई भी विधायक इस्तीफा नहीं देगा और छह महीने पुरानी गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है. बुधवार को ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी किसी भी असंतुष्ट कांग्रेस विधायक के संपर्क में नहीं है.