नई दिल्ली: स्वामी नित्यानंद का मामला अब राजनीतिक बन गया है. कांग्रेस ने विवादित स्वयंभू धर्मगुरु के भागने पर सवाल उठाया है. हालांकि, गुजरात पुलिस ने उसे ढूढ़ने के लिए तलाश शुरू कर दी है. अहमदाबाद में आश्रम चलाने के लिए अनुयायियों से दान लेने के लिए कथित तौर पर बच्चों का अपहरण करने और उन्हें गलत तरीके से भ्रमित करने को लेकर स्वयंभू धर्मगुरु नित्यानंद के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, “यह भी (नित्यानंद) गया भारत छोड़कर, और सब कुछ गया. गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार के नाक के नीचे! अब तो बता दीजिए यह रिश्ता क्या कहलाता है?” इस बीच गुजरात पुलिस ने कहा कि वह स्वयंभू धर्मगुरु नित्यानंद की जानकारी को लेकर विदेश मंत्रालय और अन्य एजेंसियों के साथ संपर्क में है. पुलिस ने गुरुवार को कहा था कि नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है और पुलिस उसके खिलाफ ठोस सबूत जुटाने के लिए कार्य कर रही है.

अहमदाबाद ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक (एसपी) आर.वी. असारी ने कहा, “हमने नित्यानंद और अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और उनकी दो शिष्यों साध्वी प्राण प्रियानंद और प्रियतवा रिद्धि किरण को कथित तौर पर कम से कम चार बच्चों के अपहरण के आरोप में गिरफ्तार किया है.”

उन्होंने कहा, “बच्चों को एक फ्लैट में अवैध रूप से कैद में रखा गया और आश्रम में दान की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए उनसे बाल मजदूरी कराई गई.” नित्यानंद के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, “स्वयंभू धर्मगुरु की जानकारी हासिल करने के लिए हम कई एजेंसियों के संपर्क में हैं.”

(इनपुट-आईएएनएस)