इलाहाबाद: राफेल रक्षा सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला करते हुए कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने मंगलवार को कहा कि 2014 से पहले नरेंद्र मोदी ने देश में घूम घूमकर कहा था कि मुझे प्रधानमंत्री मत बनाओ, मुझे देश का चौकीदार बनाओ, लेकिन सत्ता मिलते ही चौकीदार भ्रष्टाचार में भागीदार बनकर सामने आए हैं. Also Read - संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा- हरियाणा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने को BJP-JJP विधायकों पर डालें दबाव

Also Read - West Bengal Assembly Election 2021: कोलकाता में गरजे PM मोदी, दीदी ने लोगों के सपने को तोड़ा है, देखें Video

यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, “देश का सबसे बड़ा रक्षा सौदा और इसमें भ्रष्टाचार इनके कार्यकाल में हुआ है. मोदी सरकार ने लड़ाकू विमानों के दाम तीन गुना बढ़ाए.” उन्होंने कहा, “संप्रग के कार्यकाल में जब दसाल्त से राफेल के लिए हमारी बातचीत हो रही थी तो 526 करोड़ रुपये में इन विमानों की खरीद तय हुई थी, लेकिन सत्ता में आते ही जब प्रधानमंत्री 2015 में फ्रांस जाते हैं तो वह उसी विमान को 1670 करोड़ रुपये में खरीदने का सौदा करके आते हैं.” Also Read - क्या उत्तराखंड में सीएम को बदला जाएगा? बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कही ये बात

केरल: महिला नेता ने सीपीएम विधायक पर लगाया यौन शोषण की कोशिश करने का आरोप, जांच शुरू

चतुर्वेदी ने कहा, “हमारी वायुसेना 126 लड़ाकू विमानों की मांग कर रही है और ये 36 लड़ाकू विमान तय करके आते हैं. हमारी सार्वजनिक कंपनी एचएएल जो 70 वर्षों से देश की सेवा कर रही है, उससे यह सौदा उठाकर अपने निजी दोस्त, उनकी निजी कंपनी को दे दिया जाता है.”

नीतीश सरकार पर फिर बरसे कुशवाहा, कहा राज्‍य में अपराधियों को शासन का भय नहीं

उन्होंने कहा कि मोदी ने ऑफसेट कांट्रैक्ट के तहत 1 लाख 30 हजार करोड़ रुपये का सीधा फायदा अपने दोस्त को उनकी निजी कंपनी के जरिए पहुंचाने का काम किया है. यह पैसा आम जनता का है, इसलिए आपकी जवाबदेही बनती है कि इसका हिसाब दें. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि इस सरकार ने जनता से संवाद बंद कर दिया है और इसमें केवल मन की बात होती है. “हमारा मोदी जी से आग्रह है कि आप मन की बात में ही इस बारे में बता दीजिए. देश के प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री संसद में यह झूठ बोलते हैं कि गोपनीयता की शर्तों के तहत हम इस सौदे का मूल्य नहीं बता सकते.”