नई दिल्ली: कांग्रेस संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का पुरजोर विरोध करेगी क्योंकि यह विधेयक देश के संविधान और पार्टी के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के खिलाफ है. लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने रविवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के 10 जनपथ आवास पर कांग्रेस संसदीय रणनीतिक समूह की बैठक के बाद यह बयान दिया.

चौधरी के अलावा राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में मुख्य सचेतक कोडिकुन्नील सुरेश और सचेतक गौरव गोगोई सहित अन्य ने बैठक में हिस्सा लिया. विधेयक में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक अत्याचार का सामना करने वाले गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है.

वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने सभी सांसदों को 9 से 11 दिसंबर तक संसद में मौजूद रहने के लिए कहा है. 9 दिसंबर से 11 दिसंबर तक यानी तीन दिन के लिए अपने सांसदों के लिए सत्तारूढ़ पार्टी ने बकायदा व्हिप जारी किया है.

(इनपुट ऐजेंसी)