corona vaccination in india: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ शुरू किए गए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को भारत में अग्रिम पंक्ति के लगभग दो लाख स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई.Also Read - महाराष्ट्र के बाद अब भाजपा का मिशन तेलंगाना, 18 साल बाद हैदराबाद में दो दिन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज से

टीकाकरण अभियान को लेकर अब कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है. दरअसल कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सवाल करते हुए पुछा है कि कोरोना की मुफ्त वैक्सीन किसे, कहां, कैसे मिलेगी. सुरजेवाला ने कहा, “कोरोना की मुफ्त वैक्सीन किसे, कहां, कैसे मिलेगी. क्या मोदी सरकार नहीं जानती कि 28% लोग गरीबी रेखा से नीचे या गरीब की श्रेणी में आते हैं? मोदी सरकार ये बताने से इनकार कर रही है कि कितने करोड़ लोगों को कोरोना का मुफ़्त टीका मिलेगा और किसको नहीं मिलेगा.” Also Read - राष्ट्रपति चुनाव: उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कहा- देश का माहौल अशांत, ऐसे में 'खामोश' राष्ट्रपति नहीं चाहिए

कांग्रेस ने कहा कि भाजपा सरकार में कोरोना वैक्सीन के वितरण को लेकर नीतिगत कमी स्पष्ट नजर आ रही है. सरकार को ये स्पष्ट करना होगा वैक्सीन वितरण की योजना क्या है? Also Read - संसद का मॉनसून सत्र 18 जुलाई से 12 अगस्त तक चलेगा : लोकसभा सचिवालय

सुरजेवाला ने स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा, “पूरा भारत हमारे फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स, डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस कर्मियों और अन्य लोगों के लिए कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण प्रदान करने के लिए एकजुट है, लेकिन ऐसे में याद रखें कि टीकाकरण एक महत्वपूर्ण सार्वजनिक सेवा है. यह कोई राजनीतिक या व्यावसायिक अवसर नहीं होना चाहिए!”

बता दें कि भारत में करीब एक करोड़ लोगों के संक्रमित होने और 1,52,093 लोगों की मौत के बाद देश ने ‘कोविशील्ड’ और ‘कोवैक्सीन’ टीके के साथ महामारी को मात देने के लिए पहला कदम उठाया है और देशभर के स्वास्थ्य केंद्रों पर शनिवार को टीकाकरण किया गया. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि भारत में टीकाकरण के पहले दिन 3,352 केंद्रों पर 1,91,181 स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई.