नई दिल्ली: लॉकडाउन (Lockdown) में छूट के बाद से लगाता दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटे में राजधानी में 1106 नए कोरोनावायरस के मामले सामने आए हैं. यह पहली बार हुआ है जब दिल्ली में 11 से अधिक कोरोना के एक साथ मामले देखने को मिले हैं. कोविड-19 के बढ़ते मामले के बीच अब इस बीच दिल्ली में कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) की संख्या बढ़ गई है. दिल्ली में अब कुल 102 कंटेनमेंट जोन हैं.Also Read - Revised Guidelines: कोरोना पर सरकार की संशोधित गाइडलाइंस- 5 साल से कम उम्र के बच्चों का मास्क लगाना जरूरी नहीं

राजधानी दिल्ली में कई इलाकों को कंटेनमेंट जोन  से बाहर भी किया गया है. अब तक कुल 50 ऐसे क्षेत्र है जिन्हें डि केंटेन कर दिया गया है. आपको बता दें कि मौजूदा समय में नॉर्थ दिल्ली में सबसे ज्यादा 21 कंटेनमेंट जोन हैं. इसके अलावा साउथ-ईस्ट दिल्ली में (16), साउथ (13), साउथ वेस्ट (12) और नॉर्थ वेस्ट 10 कंटेनमेंट जोन हैं. Also Read - केरल में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, एक दिन में सबसे ज्यादा 46,387 नए मामले मिले

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के 17 हजार से अधिक मामले हैं और अब तक चार सौ के करीब लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 82 लोगों की कोविड-19 के कारण मौत हुई है. Also Read - Corona: दूसरी लहर की तुलना में तीसरी लहर में हुईं कम मौतें, Vaccine ने दी बड़ी राहत, ये हैं आंकड़े

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया एवं स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 82 मौतों में से 13 लोगों की मौत 27 मई को हुई है.

सिसोदिया ने कहा, ‘‘बाकी के 69 लोगों की मौत 34 दिन में हुयी है. ये मामले विभिन्न अस्पतालों द्वारा देर से सूचित करने या अधूरी सूचनाएं देने के कारण, अब जा कर दर्ज किए जा रहे हैं. ’’उन्होंने कहा कि इन 69 मौतों में से 52 लोगों की मौत सफदरजंग अस्पताल में हुयी है. कुछ दिनों पहले अधिकारियों द्वारा एक रिपोर्ट प्रस्तुत की गई .