Corona Virus in Delhi: दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. राष्ट्रीय राजधानी में अब तक कोरोना से 55 सौ से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. बीते 24 घंटों के दौरान यहां 38 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है. दिल्ली में कोरोना से संक्रमित होने वाले व्यक्तियों की कुल संख्या 2.90 लाख के पार हो गई है. बीते 24 घंटे के दौरान दिल्ली में कोरोना की जांच के लिए लगभग 50 हजार आरटी पीसीआर और एंटीजन टेस्ट किए गए. Also Read - ICMR का बड़ा बयान, कहा- कोरोना के इलाज में अब प्लाज्मा थेरेपी बेअसर, उपचार प्रोटोकॉल से हटाने की योजना

रविवार को दिल्ली सरकार ने कोरोना बुलेटिन जारी करते हुए कहा “बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 2683 नए मामले सामने आए हैं. इसी दौरान 3126 कोरोना संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ हुए हैं. 24 घंटों के दौरान ही दिल्ली में 38 व्यक्तियों की कोरोना से मौत हुई. दिल्ली में अब तक 5510 व्यक्ति कोरोना के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं. राष्ट्रीय राजधानी में कुल 2,90,613 व्यक्तियों को कोरोना हुआ और इनमें से 2,60,350 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं. दिल्ली में फिलहाल 24,753 एक्टिव कोरोना रोगी हैं.” Also Read - कोरोना से लड़ने में PM मोदी की अपील को मंत्र बनाएं देश के लोग: अमित शाह

वहीं, दिल्ली में लगातार कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ रही है. फिलहाल पूरी दिल्ली में 2696 कोरोना कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. वहीं कोरोना संक्रमण को देखते हुए फिलहाल दिल्ली के सभी स्कूल 31 अक्टूबर तक बंद रखने का फैसला लिया गया है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह घोषणा की है. Also Read - कब आएगी कोरोना वायरस की वैक्सीन, जानें पीएम मोदी ने देश को क्या बताया

केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, राज्य सरकारें 15 अक्टूबर से स्कूलों को खोलने का निर्णय ले सकती हैं. हालांकि इस विषय में अंतिम निर्णय लेने का अधिकार राज्य सरकारों को दिया गया है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने रविवार को कहा, “दिल्ली में सभी स्कूल कोरोना के कारण अभी 31 अक्टूबर तक बंद रहेंगे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि एक अभिभावक होने के नाते वे परिस्थिति की गंभीरता को समझते हैं. इस समय बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर कोई जोखिम लिया जाना उचित नहीं होगा.”

शिक्षा विभाग ने मुख्यमंत्री के निर्देश अनुसार, अपनी एक अहम बैठक में यह निर्णय लिया है कि दिल्ली में सभी पाबंदियां 31 अक्टूबर तक यथावत रहेंगी. इस कारण राजधानी दिल्ली में फिलहाल स्कूल नहीं खुलेंगे. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि प्रत्येक जोन में प्रतिदिन दो साप्ताहिक बाजार लगाने की अनुमति होगी.