नई दिल्लीः दिल्ली में आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों में सीएम केजरीवाल जुटे हुए हैं, लेकिन वे अपने एक बयान के कारण इस समय चर्चा में बने हुए हैं. एक जनसभा को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने बिहार के लोगों पर विवादित टिप्पणी कर डाली. केजरीवाल ने कहा कि बिहार के लोग 500 का टिकट लेकर दिल्ली आते हैं और यहां 5 लाख का फ्री में इलाज कराते हैं. सीएम के इस बयान के बाद कई राजनीतिक पार्टियों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

एक कार्यक्रम के दौरान केजरीवाल जनसभा को संबोधित करते हुए अपनी सरकार के उपलब्धियों को गिना रहे थे, लेकिन इस बीच उन्होंने ऐसा बयान दिया जिससे एक नया विवाद खड़ा हो गया है. उन्होंने कहा कि पहले कि अपेक्षा दिल्ली में स्वास्थ्य सेवाएं काफी बेहतर हुई हैं और लोगों को सस्ते में इलाज मिल रहा है. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि बिहार के लोग 500 के टिकट में ट्रेन से दिल्ली आता है और यहां 5 लाख का इलाज करा कर चले जाते हैं. सीएम ने कहा कि इससे खुशी होती है कि दूसरे प्रदेश के लोग भी यहां इलाज के लिए आ रहे हैं, लेकिन दिल्ली की भी अपनी एक सीमित क्षमता है. आम आदमी पार्टी के मुखिया ने कहा कि सिर्फ दिल्ली ही नहीं पूरे देश कि स्वास्थ्य सुविधाएं सुधरनी. चाहिए.

कार्यक्रम में सीएम ने बाहर से आने वाले लोगों पर जमकर कमेंट किए. केजरीवाल के बयान पर मनोज तिवारी ने कहा कि सीएम ये बताएं कि बाहरी लोगों से उनकों क्या परेशानी है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए आम आदमी पार्टी ने 21 सितंबर से जनसंवाद यात्रा कार्यक्रम शुरू कर दिया है. यह पहला मौका नहीं है जब केजरीवाल ने ऐसा विवादित बयान दिया है. इससे पहले उन्होंने कहा था कि अगर दिल्ली में एनआरसी लागू होती है तो सबसे पहले दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी को दिल्ली छोड़कर जाना होगा. सीएम केजरीवाल के इस बयान को बीजेपी ने हाथों हाथ लपक लिया और इसे पूर्वांचल का अपमान करार दिया.

वायु सेना प्रमुख बने आरकेएस भदौरिया, कहा- जरूरत पड़ी तो बालाकोट जैसे ऑपरेशन को फिर देंगे अंजाम

मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर करते हुए कहा था कि अरविंद केजरीवाल को मालूम होना चाहिए कि एनआरसी में घुसपैठियों को चिन्हित किया जाता है. मनोज तिवारी ने केजरीवाल के मानसिक संतुलन पर ही सवाल खड़े कर दिए थे. मनोज तिवारी पर दिए गए बयान से गुस्साए बीजेपी पूर्वांचल मोर्चा के सदस्यों ने 26 सितंबर को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के सामने जमकर नारेबाजी की और हंगामा किया था.