बीजेपी ने बिहार चुनाव में हार का मुहं क्या देखा उसके बाद से तो पार्टी के अंदरूनी कलह अब जग जाहिर होने लगी है। बीजेपी की हार के बाद भजपा के 4 बड़े नेताओं को बैठे बिठाए एक ऐसा मुद्दा हाथ लगा की उन्होंने उसपर टिप्पणी कर के मामले को फिर गर्मा दिया। बिहार चुनाव में हार के बाद एल के आडवाणी, यशवंत सिन्हा, मुरली मनोहर जोशी, हार को लेकर नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोडी पर निशाना साधते हुए एक सख्त बयान जारी किया था।

अब पार्टी के इन चारो नेताओं ने एक बार फिर अगल अगल एक दुसरे से मुलाकात की है लेकिन इस मसले पर कोई बोलने क तैयार नही है। सूत्रों की माने तो बिहार में मिली हार के बाद और उसके बाद इनका बयान देना बीजेपी के युवा नेताओं को रास नही आया लेकिन इस सभी कार्रवाई करने के विरोध में खुद राजनाथ सिंह खड़े हो गए हैं। इस मामले की बढ़ती पेचीदगी को देख कल अरुण जेटली खुद मुरलीमनोहर जोशी के घर गए थे लेकिन जीस तरह से वो लौट के आये उससे लग रहा था अभी बात नही बनी।

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एम वेंकैया नायडू और नितिन गडकरी ने आज कहा कि पार्टी इन दिग्गज नेताओं की सुनेगी। लेकिन जीस तरह से बिहार में हार मिली है बीजेपी को उसके बाद पार्टी के अंदर का असंतोष अब जग के सामने आने लगा है एक तरफ गायक मनोज तिवारी ने पार्टी के रणनिति पर सवाल उठाया तो अपनी पार्टी से नाराज आरके सिंह ने नेताओं से जवाबदेहि को तय करने की मांग की है। यह भी पढ़ें: पदक लौटाकर देश का अपमान कर रहे पूर्व सैनिक : पर्रिकर