गुवाहाटी: असम के एक विधायक को अस्पतालों पर ‘‘अपमानजनक’’ बातें करना महंगा पड़ा. वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. दरअसल असम में कोविड-19 के मरीजों के लिए बनाए गए अस्पतालों और पृथक केन्द्रों की हालत, निरोध केन्द्रों से बदतर बताने के आरोप में गिरफ्तार किए गए विपक्ष के एक विधायक को मंगलवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. Also Read - Delhi-Haryana Border: दिल्ली-हरियाणा सीमा पार करने के लिए अब ट्रेवल पास की नहीं होगी जरूरत

असम के पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत ने बताया कि अखिल भारतीय संयुक्त गणतांत्रिक मोर्चा (एआईडीयूएफ) के ढिंग निर्वाचन क्षेत्र से विधायक अमीनुल इस्लाम को प्राथमिक जांच के बाद आज सुबह गिरफ्तार किया गया. विधायक की एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी, जिसमें वे अस्पतालों और पृथक केन्द्रों के संबंध में ‘‘अपमानजनक’’बातें कर रहे हैं. Also Read - कोरोना के खिलाफ जंग में हम ही जीतेंगे, दुनिया को हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों से काफी उम्मीद: पीएम नरेंद्र मोदी

उन्होंने कथित तौर पर यह भी कहा कि ये केन्द्र निरोध केन्द्र से बदतर है. असम में सैकड़ों संदिग्ध अवैध प्रवासी और संदिग्ध नागरिक निरोध केन्द्रों में हैं. महंत ने कहा, ‘‘ हमने भादंसं की विभिन्न धाराओं के तहत उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है.’’ उन्होंने बताया कि असम विधानसभा अध्यक्ष को इस बारे में सूचित कर दिया गया है. Also Read - Coronavirus in Indore Update: मध्य प्रदेश में कोरोना का गढ़ बना इंदौर, 135 लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 3500 के पार

इस्लाम को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गौतम डी की अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें 14दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि विधायक को नौगांव केन्द्रीय कारागार भेजा गया है. बदरूद्दीन अजमल की अगुवाई वाली पार्टी ने विधायक के इस बयान से खुद को अलग कर लिया है. पार्टी का कहना है कि ये विधायक के अपने विचार हैं. पार्टी इनका समर्थन नहीं करती है. वहीं भाजपा ने इस मुद्दे पर पार्टी पर जम कर प्रहार किया है.

नौगांव के पुलिस अधीक्षक गौरव अभिजीत दिलीप ने संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘पूछताछ के दौरान इस्लाम ने कुबूल किया कि क्लिप में सुनाई दे रही आवाज उन्हीं की है और उन्होंने स्वीकार किया कि क्लिप उन्होंने ही बनाई थी. क्लिप उनके मोबाइल फोन पर भी थी इसलिए हमने उनका फोन जब्त कर लिया है. उन्होंने कहा कि उन्होंने यह क्लिप कुछ लोगों को फॉरवर्ड भी की है.’’

(इनपुट भाषा)