Corona Cases Update: भारत में एक दिन में कोविड-19 के 46,148 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,02,79,331 हो गई. वहीं, संक्रमण से 979 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,96,730 हो गई. संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या देश में 76 दिन बाद इतनी कम रही है.Also Read - CoronaVirus In India Update: कोरोना की आज फिर बढ़ी रफ्तार, केरल में अब भी कहर बरकरार, जानिए ताजा हाल

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को सुबह सात बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कोविड-19 रोधी टीके की 32.36 करोड़ खुराक दी जा चुकी हैं. Also Read - CoronaVirus In India Latest Report: बड़ी राहत-कोरोना से मौत के आंकड़े लगातार हो रहे कम, एक दिन में 416 लोगों की गई जान

मंत्रालय ने कहा, ‘‘ भारत ने टीकाकरण अभियान में एक और मुकाम हासिल करते हुए टीके की अभी तक दी गई खुराक की संख्या के मामले में अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है.’’ Also Read - UP News: अमानवीय वारदात-पत्नी के पास नहीं थे 15000 रुपये, अस्पताल ने 75 दिनों तक बंधक रखा पति का शव

मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 5,72,994 हो गई है, जो कुल मामलों का 1.89 प्रतिशत है. देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर भी बढ़कर 96.80 प्रतिशत हो गई है. पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मामलों में कुल 13,409 की कमी आई है. अभी तक कुल 40,63,71,279 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 15,70,515 नमूनों की जांच रविवार को की गई.

आंकड़ों के अनुसार, नमूनों के संक्रमित आने की दैनिक दर 2.94 प्रतिशत है. यह पिछले 21 दिनों से पांच प्रतिशत से कम है. नमूनों के संक्रमित आने की साप्ताहिक दर भी कम होकर 2.81 प्रतिशत हो गई है. संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या लगातार 46वें दिन संक्रमण के नए मामलों से अधिक रही. देश में अभी तक कुल 2,93,09,607 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. कोविड-19 से मृत्यु दर 1.31 प्रतिशत है.

देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी. वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख के पार हो गए. देश में 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे.