दुनिया भर में कोरोना वायरस के फैलने के कारण पैदा आर्थिक संकट की सबसे ज्यादा मार झेल रहे असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी राहत देने की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार दिहाड़ी मजदूरों को उनकी दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए हर रोज 1000 रुपये देगी. Also Read - अगर IPL 2020 टूर्नामेंट को आगे नहीं बढ़ाया गया तो यह बहुत बड़ी 'नाकामी' होगी : बटलर

दरअसल, देश में भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या अब तेजी से बढ़ने लगी है. ताजा रिपोर्ट के मुताबिक अबतक 270 लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए तमाम सेवाओं को बंद कर दिया गया है. कारोबार ठप हैं. ऐसे में इस सबकी सबसे ज्यादा मार गरीब तबके के लोगों पर पड़ रही है. Also Read - हरभजन सिंह चाहते हैं कि आईपीएल का आयोजन हो लेकिन.....

शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना से संक्रमण के अब तक 23 मामले सामने आए हैं. इसमें से 9 लोग ठीक हो गए हैं. सीएम ने कहा कि उनकी सरकार राज्य के करीब 15 लाख दिहाड़ी मजदूरों और करीब 20.37 लाख कंस्ट्रक्शन मजदूरों को हर रोज ये सहायता देगी. कोराना की वजह पूरे राज्य में असंगठित क्षेत्र ठप पड़ा हुआ है.

राज्य के नोएडा और लखनऊ से सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. कोरोना से मुकाबले के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जनता कर्फ्यू की अपील की है. रविवार को सुबह 7 बजे से देर रात तक पूरी तरह से सभी सेवाओं को बंद करने की अपील की गई है. नोएडा में तमाम मॉल बंद कर दिए गए हैं.