COVID-19 in India: भारत में कोरोना का नया स्ट्रेन (Corona Virus New Strain) ज्यादा संक्रामक हो सकता है .पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से कोरोना वायरस के मामलों में फिर से तेजी देखने को मिली है, उसने एक बार फिर से सरकार की चिंता बढ़ा दी है. देश के चार राज्यों, केरल, महाराष्ट्र, पंजाब और मध्यप्रदेश में सप्ताह भर में कोरोना वायरस के मामलों में काफी तेजी देखी गई है. इसके साथ ही अन्य राज्यों से भी कोरोना के बढ़ते मामलों की जानकारी मिल रही है. आंकड़ों की बात करें तो, छह राज्यों से 87 फीसदी कोरोना वायरस के नए मामले सामने आए हैं.Also Read - पंजाब में टेस्ला की इकाई स्थापित करने के लिए सिद्धू ने एलन मस्क को किया आमंत्रित

एम्स प्रमुख रणदीप गुलेरिया ने कहा-खतरनाक हो सकता है सेकेंड स्ट्रेन Also Read - Delhi Weekend Curfew: नियम तोड़ते हुए पकड़े गए लोग, 1320 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

वहीं, इस बारे में एम्स प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया (Dr, Randeep Guleria) ने ये आशंका जताई है कि भारत में कोरोना वायरस के प्रति हर्ड इम्यूनिटी बनना एक मिथक है, क्योंकि इसके लिए 80 फीसदी आबादी में कोरोना वायरस के प्रति एंटीबॉडी (Antibody) बनना चाहिए, जो हर्ड इम्यूनिटी के तहत पूरी आबादी की सुरक्षा के लिए जरूरी है. कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक और खतरनाक साबित हो सकता है. नया स्ट्रेन संक्रमण से उबर चुके व्यक्ति को भी दोबारा चपेट में ले सकता है,जिनमें चाहे पहले एंटीबॉडी पैदा हो गई हों. Also Read - Mumbai Corona Update: मुंबई में 11 दिन बाद घटे कोरोना के मामले, 24 घंटे में 7895 नए केस मिले, 11 मौतें हुईं

महाराष्ट्र में कोविड टॉस्कफोर्स के सदस्य डॉ. शशांक जोशी ने कहा है कि राज्य में कोरोना के 240 नए स्ट्रेन देखे गए हैं. इसे पिछले हफ्ते से महाराष्ट्र में मामले बढ़ने की अहम वजह माना जा रहा है.

महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहे मामले चिंता का विषय

बता दें कि कोरोना वायरस के कई नए स्ट्रेन की खोज के बीच महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी दर्ज की गई है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि कोरोना के प्रचलित वेरिएंट की तुलना में यह अधिक खतरनाक है. महाराष्ट्र में मुंबई सहित कई जिलों में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र और मुंबई में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन ने स्थानीय अधिकारियों को नए लॉकडाउन और अधिकांश लोगों के लिए नई पाबंदियां लगाने के लिए प्रेरित किया है. आशंका है कि इन इलाकों में फिर से लॉकडाउन लगाने की नौबत आ सकती है.

महाराष्ट्र में शुक्रवार को 6,112 नए मामलों की पुष्टि हुई है, जबकि केरल में 4,584 नए कोरोना के मामले मिले हैं। मध्यप्रदेश में 13 फरवरी से दैनिक मामलों की संख्या में वृद्धि देखी जा रही है। शुक्रवार को राज्य में 297 दैनिक नए मामले दर्ज किए गए हैं। केवल दो राज्यों महाराष्ट्र और केरल में कोविड-19 के 75.87 प्रतिशत सक्रिय मामले हैं।