Corona Vaccination Latest Updates: कोरोना महामारी के खिलाफ जारी लड़ाई में वैक्सीनेशन के दूसरे फेज की सोमवार को शुरुआत हो गई है, जिसमें पहले दिन पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली है. इसके बाद आज यानी मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के जजों (मौजूदा और पूर्व) और उनके परिवारों के लिए टीकाकरण अभियान आज से शुरू हो रहा है. Also Read - कोरोना के लक्षण हैं तो टेस्ट रिपोर्ट का इंतज़ार किए बिना शुरू करें अपना इलाज, सरकार ने जारी की 7 दवाओं की सूची

नहीं लगवा सकेंगे अपनी पसंद का टीका Also Read - Fake Remdesivir Injection: पानी में पैरासीटामॉल घोल Remdesivir के नाम पर 35 हज़ार रु तक में बेचे, पकड़े गए

सुप्रीम कोर्ट के 30 जजों में से 29 जज आज वैक्सीन लगवाएंगे, सिर्फ जस्टिस सूर्यकांत को टीका नहीं लगेगा, क्योंकि उनकी उम्र 59 साल है. जजों को कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों वैक्सीन्स में अपनी पसंद की वैक्सीन लगवाने की सुविधा नहीं होगी. बता दें कि भारत में भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन से टीकाकरण का अभियान चल रहा है. Also Read - भारत का अब तक 12 करोड़ लोगों के लगी कोरोना वैक्सीन, 24 घंटे में 30 लाख लोगों को लगा टीका

सोमवार से शुरू हुआ है टीकाकरण का दूसरा चरण

दरअसल, 1 मार्च से कोरोना वायरस के खिलाफ जंग का दूसरा महाअभियान शुरू हुआ है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, सोमवार तक कोरोना वैक्सीन लेने वालों की संख्या 1.47 लाख पार कर चुकी है. बता दें कि 16 जनवरी से भारत में टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई थी और एक मार्च से दूसरा चरण शुरू हुआ है.

दूसरे चरण में इनलोगों को लग रहा है टीका

टीकाकरण के दूसरे फेज में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों और बीमारी से पीड़ित 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जा रहा है. इस श्रेणी में आने वाले सुप्रीम कोर्ट के जजों और उनके परिवार वालों को भी गाइडलाइन के साथ टीका लगाया जाएगा. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में जल्द ही फिजिकल सुनवाई की तैयारी हो रही है और  24 मार्च से ही सुप्रीम कोर्ट में फिजिकल सुनवाई बंद है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को 60 वर्ष से अधिक आयु के 1,28,630 लाभार्थियों और 45 साल तथा इससे अधिक आयु के 18,850 लाभार्थियों को कोविड-19 का पहला टीका दिया गया.  मंत्रालय के अनुसार, देश में अब तक टीके की 1.47 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है.