Corona Vaccine: जहाँ कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाई जाएगी, वहाँ आईसीयू बेड (ICU Bed) की भी व्यवस्था की गई है. कोरोना वैक्सीन (Corona Virus Vaccination) लगवाने के बाद अगर किसी की हालत बिगड़ती है तो उसे तुरंत ही भर्ती कराया जायेगा. देश में 16 जनवरी से बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू की जानी है. कई राज्यों में वैक्सीन की पहली खेप पहुँच गई है. Also Read - बिहार में कोरोना का पहला टीका सफाई कर्मचारी को लगेगा, टीकाकरण की तैयारियां पूरी

दिल्ली के डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल (Dr. Ram Manohar Lohia Hospital) में ड्राइव के लिए पूरी तैयारी सुनिश्चित की गई हैं. साथ ही अस्पताल में वैक्सीन ड्राइव के दौरान मरीज की स्थिति बिगड़ने पर करीब 5 आईसीयू बेड की व्यवस्था भी की गई है. अस्पताल के मेडिकल सुपरइंटेंडेंट डॉ. राणा एके सिंह ने कहा की, “अस्पताल में 4 से 5 आईसीयू बेड की व्यवस्था की गई है. अगर वैक्सीन लगाने के बाद किसी व्यक्ति को इलाज की जरूरत होगी तो उसे हम तुरन्त आईसीयू में शिफ्ट कर सकते हैं.” Also Read - कोराना की वजह से जारी की गईं S*x गाइडलाइंस, कहा- सोलो सेक्स ही बेहतर...

दरअसल अस्पताल के एक हिस्से को वैक्सीन ड्राइव (Vaccine Drive) लगाने के लिए सुनिश्चित किया गया है. राम मनोहर लोहिया अस्पताल के मेडिकल सुपरइंटेंडेंट डॉ. राणा ने आगे जानकारी देते हुए कहा, “मैं इस ड्राइव को बहुत बड़े महापर्व की तरह देख रहा हूं.” उन्होंने बताया, “बीते शुक्रवार को इसी मसले पर हमने एक बैठक की, इस बैठक में कहा गया कि दिल्ली एक बड़ा शहर नहीं बल्कि एक राज्य है और राज्य के सभी लोगों को वैक्सीन देना आसान काम नहीं है. इसमें जितने भी स्वास्थ्य कर्मी हैं, उनको कमर कसकर लगना पड़ेगा.” Also Read - Coronavirus Cases in India: राहत की खबर, देश में घटे अंडर ट्रीटमेंट कोरोना केसेस, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए आंकड़े

“हमने अस्पताल में पूरी व्यवस्था कर ली है, जब निर्देश मिलेंगे हम तुरंत उस ड्राइव को शुरू कर देंगे.” डॉ. राणा ने जिक्र करते हुए कहा, “डब्ल्यूएचओ की एक टीम ने भी अस्पताल का दौरा किया था. जिसमें उन्होंने अस्पताल की व्यवस्थाओं की प्रशंसा की.” “हमारे अस्पताल को जितने लोगों को वैक्सीन लगाने का निर्देश मिलेगा, हम उतने लोगों को वैक्सीन लगा देंगे. पहले चरण में जितने लोगों को वैक्सीन लगना है उनका रजिस्ट्रेशन हो चुका है. स्वास्थ्यकर्मी, कोविड वॉरियर, 50 साल से ज्यादा उम्र के लोग इसमें शामिल हैं.”

“इन सभी लोगों को एक संदेश (मैसेज) भेजा जाएगा और जो लोग वैक्सीन लगाएंगे, उनको भी संदेश (मैसेज) जाएगा. ताकि किसी तरह की कोई असमंजस की स्थिति न हो.” अस्पताल में जहां वैक्सीन लगाने की व्यवस्था है वहां पहले लोगों को बैठाया जाएगा. उसी जगह पर एक सेंटर बनाया गया है. जहां ट्रॉली, ऑक्सीजन, दवाईयां और इलाज से सम्बंधित चीजें उपलब्ध रहेंगी.

डॉ. राणा ने आगे बताया- “हमने हर स्थिति से निपटने के लिए पहले ही सोच रखा है और उसी तर्ज पर सारी व्यवस्था कर रखी है. 100 लोगों को प्रतदिन वैक्सीन लगाना है. यदि ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने के निर्देश आते हैं तो उसकी भी व्यवस्था कर देंगे.”

“वैक्सीन को रेफ्रिजरेटर में रखा जाएगा और जितनी वैक्सीन लगाने के लिए हमें दी जाएगी, हमारे पास उनके रखने की भी व्यवस्था है.” हालांकि कोविशील्ड वैक्सीन की लगभग 2.5 लाख खुराक वाली एक खेप मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी के आईजीआई हवाई अड्डे पर उतरी और इसे दिल्ली के एकमात्र वैक्सीन भंडारण सुविधा राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (आरजीएसएसएच) तक पहुंचाया जा चुका है.