Corona Vaccine: सरकार ने शुक्रवार को लोकसभा को सूचित किया कि कोविशील्ड टीके की मासिक उत्पादन क्षमता 11 करोड़ खुराक से बढ़ाकर 12 करोड़ से अधिक करने और कोवैक्सीन की क्षमता हर महीने ढाई करोड़ खुराक से बढ़ाकर करीब 5.8 करोड़ करने की योजना है. स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती पवार ने लोकसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि राष्ट्रीय कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने 16 जनवरी से पांच अगस्त तक कोविशील्ड की 44.42 करोड़ खुराकों की आपूर्ति की. वहीं भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन की 6.82 करोड़ खुराकों की आपूर्ति की.Also Read - कोविशील्ड को मान्यता नहीं: भारत ने ब्रिटेन को चेताया, कहा- हम भी उठा सकते हैं ऐसा ही कदम

देश में टीकों के विनिर्माण या उत्पादन की क्षमता से संबंधित प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा, ‘जैसा कि निर्माताओं ने बताया है कि कोविशील्ड की मासिक उत्पादन क्षमता 11 करोड़ खुराक प्रति माह से बढ़ाकर 12 करोड़ से अधिक प्रति माह करने की वहीं कोवैक्सीन की उत्पादन क्षमता ढाई करोड़ खुराक प्रति माह से बढ़ाकर करीब 5.8 करोड़ खुराक प्रति माह करने की योजना है.’ Also Read - Covishield: ब्रिटेन की वैक्सीन नीति को लेकर सरकार ने चेताया, कहा- यह भेदभावपूर्ण रवैया, हम भी लेंगे जवाबी एक्शन

उन्होंने कहा कि केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन ने टीकों को तेजी से मंजूरी देने के लिए अनेक कदम उठाये हैं. कोविड-19 टीकों के क्लिनिकल परीक्षण और मंजूरी के लिए आवेदन के त्वरित निस्तारण की प्रणाली बनाई गयी है. एक अन्य प्रश्न के लिखित उत्तर में पवार ने बताया कि देश के निजी अस्पतालों ने गत दो अगस्त तक कोविड-19 टीकों की कुल 3.56 करोड़ खुराक खरीदी हैं और निजी स्वास्थ्य संस्थानों द्वारा एक बार खरीदे जा चुके टीकों को पुन: सरकारी टीकाकरण केंद्रों में नहीं भेजा जाता. Also Read - Vaccine For Child: बच्चों के लिए जल्द आने वाली है वैक्सीन! भारत बायोटेक ने दूसरे-तीसरे फेज का ट्रायल किया पूरा

(इनपुट: भाषा)