Covid Vaccine Latest Updates: देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच दुनियाभर में इसके वैक्सीन (Covid Vaccine) को लेकर तमाम तरह के शोध जारी हैं. भारत में भी कई वैक्सीन परीक्षण के अलग-अलग चरणों में हैं. उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही कोरोना की कोई कारगर और सुरक्षित वैक्सीन आएगी. इस बीच देश में कोरोना की वैक्सीन विकसित करने में लगे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने मंगलवार को यह साफ कर दिया है कि ऑक्सफोर्ड कोरोना वायरस वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ (Oxford coronavirus vaccine) ‘सुरक्षित और प्रतिरोधक क्षमता पैदा करने वाली’ है. Also Read - COVID-19 Latest News: देश में कोरोना के 14,256 नए मामले आए, 13 लाख 90 हजार लोगों को लग चुकी है वैक्‍सीन

चेन्नई के एक ट्रायल वॉलंटियर में ‘वर्चुअल न्यूरोलॉजिकल ब्रेकडाउन’ सहित कई साइड इफेक्ट दिखने के बाद इस वैक्सीन को लेकर सवाल उठने शुरू हो गए थे. इसके बाद कंपनी की तरफ से यह बयान जारी किया गया है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने कहा कि ‘चेन्नई के वॉलंटियर के साथ हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन यह वैक्सीन की वजह से नहीं हुई है.’ कंपनी ने आरोपों को दुर्भावनापूर्ण और गलत बताया. कंपनी की तरफ से यह भी कहा गया और कहा है कि वो उसपर 100 करोड़ मानहानि का मुकदमा करेगी.

वॉलंटियर के साथ हुई घटना को ‘गंभीर प्रतिकूल प्रभाव’ बताते हुए कहा कि ‘सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया वॉलंटियर के मेडिकल कंडीशन के प्रति हमदर्दी रखता है, यह घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्णा है, लेकिन यह वैक्सीन की वजह से नहीं हुई है और ‘COVISHIELD Vaccine’ पूरी तरह से सुरक्षित और प्रतिरोधक क्षमता पैदा करने वाली है.’

बता दें कि पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford Vaccine Update) और फार्मास्युटिकल कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर कोविड-19 टीका ‘कोविशील्ड’ बना रही है. सीरम इंस्टीट्यूट भारत में इस टीके का परीक्षण भी कर रही है.

(इनपुट: ANI)