Corona Vaccine Side Effect: कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाए जाने के बाद एक और शख्स की मौत हुई है. कोरोना की टीका (Corona Vaccination) लगने के कुछ घंटे बाद शख्स के सीने में दर्द हुआ, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, इसके बाद अस्पताल में उसकी मौत हो गई. हालांकि इस मौत के पीछे कोरोना वायरस (Corona Vaccine) के वजह होने से इनकार किया जा रहा है. डॉक्टर्स का कहना है कि मौत वैक्सीन के कारण नहीं हुई है. शख्स का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. तब सही वजह पता लगेगी. हालांकि इससे पहले भी हुई मौतों के मामले में विशेषज्ञों का कहना था कि ऐसा वैक्सीन के कारण नहीं हुआ है. Also Read - Co-WIN Vaccinator App: आम आदमी के लिए नहीं है कोविन ऐप, सरकार ने कहा- अगर टीका लगवाना है तो यहां करें रजिस्ट्रेशन

तेलंगाना में मंगलवार को एक स्वास्थ्यकर्मी (Health Workers) को कोविड-19 (Covid-19) टीका लगाया गया था, जिसकी आज मृत्यु हो गई. लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण निदेशक, डॉ. जी. श्रीनिवास राव ने कहा कि स्वास्थ्यकर्मी को कोवला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मंगलवार को लगभग 11.30 बजे कोविड वैक्सीन दी गई. मंगलवार की दोपहर लगभग 2.30 बजे, उन्होंने छाती में दर्द (Chest Pain) की शिकायत की और जिला अस्पताल, निर्मल में लगभग 5.30 बजे सुबह उसने दम तोड़ दिया. Also Read - नेपाल के सेना प्रमुख ने भी लगवाई 'मेड इन इंडिया' कोरोना वैक्सीन, भारत ने गिफ्ट में दी थीं 10 लाख खुराक

टीकाकरण की वजह से प्रतिकूल प्रभाव (AEFI) समिति इस मामले की जांच कर रही है और राज्य एईएफआई समिति को अपनी रिपोर्ट देगी. राज्य एईएफआई समिति फिर केंद्रीय एईएफआई समिति को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी. तेलंगाना में सार्वजनिक स्वास्थ्य कर्मियों के लिए देशव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम 16 जनवरी से शुरू होने के बाद यह पहली मौत है. Also Read - Corona Vaccine Free In Bihar: अपने हैप्पी बर्थडे पर CM नीतीश ने निभाया चुनावी वादा, किया ये बड़ा ऐलान

केंद्र और राज्य सरकार के संस्थानों में काम करने वाले कुल 51,997 स्वास्थ्य कर्मचारियों को मंगलवार को राज्य भर के 894 केंद्रों पर टीका लगाया गया. राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा पहले से घोषित कार्यक्रम के अनुसार बुधवार को टीकाकरण नहीं किया जा रहा है. अधिकारियों ने कहा कि तेलंगाना में तीन दिनों में कुल 69,625 स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया गया.

वहीं, इस मामले को लेकर निदेशक ने कहा कि प्रारंभिक निष्कर्षो से पता चलता है कि मौत टीकाकरण की वजह (Death after Corona Vaccination) से नहीं हुई है. दिशानिर्देशों के अनुसार, डॉक्टरों की एक टीम द्वारा पोस्टमार्टम किया जाएगा.