Corona Vaccine Latest Update: साल 2021 की शुरुआत इस खुशखबरी के साथ हुई है कि भारत में भी कोरोना महामारी (Coronavirus) से निजात पाने के लिए 2-2वैक्सीन को मंजूरी दे दी गई है. वैक्सीनेशन के लिए भारत के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में शनिवार से कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन (Corona vaccine dry Run) शुरू हो चुका है. ऐसे में लोगों को अब कोरोना को मात देने के लिए नई उम्मीदें जगी हैं. वैक्सीन की मंजूरी मिलने के बाद लोगों को अब टीकाकरण का इंतजार है.Also Read - 3 लाख एंड्राइड फोन यूजर्स ने डाउनलोड कीं ये खतरनाक ऐप्स, जो चुरा रही हैं आपकी बैंकिंग पासवर्ड

गूगल प्ले स्टोर या ऐपल ऐप स्टोर से डाउनलोड करना होगा Co-WIN App Also Read - Google Play Store ने जारी की 2021 के बेस्ट गेम्स और ऐप्स की लिस्ट, इस ऐप को नंबर वन का खिताब

टीकाकरण के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 वैक्सीन वितरण की निगरानी, डाटा रखने और लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए पंजीकृत करवाने के लिए कोविन (Co-WIN App) नाम का एक ऐप बनाया है. देश के नागरिक जो हेल्थ वर्कर्स नहीं हैं उन्हें कोवैक्सीन के लिए CoWIN ऐप को गूगल प्ले स्टोर या ऐपल ऐप स्टोर से डाउनलोड करना होगा. ऐप को डाउनलोड करने के बाद पंजीकरण मॉड्यूल के जरिए लोग कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे. Also Read - PUBG: New State खेलने वाले अब हो जाएं सावधान, चीटिंग करने पर लगेगी लगाम!

vaccine registration process

Co-WIN App में दिए गए हैं 5 मॉड्यूल
कोविन ऐप (Co-WIN App) से टीकाकरण की प्रक्रिया, प्रशासनिक क्रियाकलापों, टीकाकरण कर्मियों और उन लोगों के लिए एक मंच की तरह काम करेगा, जिन्हें वैक्सीन लगाई जानी है. कोविन ऐप में 5 मॉड्यूल हैं. पहला प्रशासनिक मॉड्यूल, दूसरा रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल, तीसरा वैक्सीनेशन मॉड्यूल, चौथा लाभान्वित स्वीकृति मॉड्यूल और पांचवां रिपोर्ट मॉड्यूल.

-प्रशासनिक मॉड्यूल उन लोगों के लिए है जो टीकाकरण कार्यक्रम का संचालन करेंगे. इस मॉड्यूल के जरिए वे सेशन तय कर सकते हैं, जिसके जरिए टीका लगवाने लोगों और प्रबंधकों को नोटिफिकेशन के जरिए जानकारी मिल जाएगी.

-रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल उन लोगों के लिए होगा जो टीकाकरण कार्यक्रम के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाएंगे.

-वैक्सीनेशन मॉड्यूल उन लोगों की जानकारियां को वेरिफाई करेगा, जो टीका लगवाने के लिए अपना रजिट्रेशन करेंगे और इस बारे में स्टेटस अपडेट करेगा.

-लाभान्वित स्वीकृति मॉड्यूल के जरिए टीकाकरण के लाभान्वित लोगों को मैसेज भेजे जाएंगे. साथ ही इससे क्यूआर कोड भी जनरेट होगा और लोगों को वैक्सीन लगवाने का ई-प्रमाणपत्र मिल जाएगा.

-रिपोर्ट मॉड्यूल के जरिए टीकाकरण कार्यक्रम से जुड़ी रिपोर्ट तैयार होंगी, जैसे टीकाकरण के कितने सेशन हुए, कितने लोगों को टीका लगा. कितने लोगों ने रजिस्ट्रेशन के बावजूद टीका नहीं लगवाया.

पहले चरण में तीन करोड़ हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को मिलेगी फ्री वैक्सीन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने शनिवार को ड्राई रन की तैयारियों का खुद जायजा लिया और कहा कि अभी  सिर्फ देश के तीन करोड़ हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को फ्री वैक्सीन दिए जाएंगे. उन्होंने कहा, इसके अलावा देश में बाकी लोगों को वैक्सीन कैसे लगेगी इस पर जुलाई तक फैसला होगा.”