नयी दिल्ली: चीन में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस ने अब भारत में अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है, जहां बुधवार को इससे संक्रमित लोगों की संख्या अचानक बढ़कर 29 हो गई. संक्रमित लोगों में 16 इतालवी पर्यटक हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यालय ने कहा कि इस बार राष्ट्रपति भवन में होली मिलन समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह होली का त्योहार नहीं मनाएंगे और किसी भी ‘होली मिलन’ समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा. Also Read - पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिक 'अच्छी-खासी संख्या' में आए, भारत पीछे नहीं हटेगा: राजनाथ सिंह

मोदी ने ट्वीट किया कि दुनियाभर के विशेषज्ञों ने (कोविड-19) कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए बड़ी संख्या में लोगों के एकत्रित होने के कार्यक्रमों को कम करने की सलाह दी है. इसलिए इस साल मैंने किसी भी ‘होली मिलन’ समारोह में न जाने का फैसला किया है. इस साल होली 10 मार्च को है. इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने 28 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमण की चपेट में आने की जानकारी दी थी. डॉ हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिये मंत्रालय द्वारा किए गए एहतियाती उपायों की समीक्षा बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में बताया कि विदेश यात्रा कर भारत आने वाले सभी यात्रियों की हवाईअड्डों पर जांच की जाएगी. अभी तक कोरोना वायरस के संक्रमण के दायरे वाले 12 देशों से भारत आने वाले यात्रियों की ही स्क्रीनिंग की जा रही थी. इस बीच, गुड़गांव में पेटीएम के एक कर्मचारी को जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. कंपनी ने बुधवार को एक बयान में कहा कि कर्मचारी हाल ही में इटली से छुट्टियां बिताकर लौटा था, जो कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है. इस बीच, केन्द्र सरकार के साथ ही दिल्ली सरकार और अन्य राज्यों की सरकारों ने कई बैठकें कीं. Also Read - पीएम मोदी और डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच भारत-चीन बॉर्डर की स्थिति को लेकर हुई बातचीत

विदेशों में 17 भारतीय कोरोना वायरस से संक्रमित
विदेश मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि विदेशों में 17 भारतीय कोरोना वायरस से संक्रमित हैं जिनमें से जापान के क्रूज जहाज से 16 मामले सामने आए हैं जबकि संयुक्त अरब अमीरात से एक भारतीय इनमें शामिल हैं. वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि भारत का इरादा ईरान में एक प्रयोगशाला स्थापित करने का है ताकि वहां से भारतीयों को वापस लाने से पहले उनकी कोरोना वायरस की जांच की जा सके. ईरान सरकार ने अभी तक इसके लिए अनुमति नहीं दी है. अनुमानत: 1200 भारतीय वर्तमान में ईरान में हैं जिनमें से अधिकतर छात्र और तीर्थयात्री हैं. प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में हुई अंतर मंत्रालयी बैठक में बुधवार को यह फैसला हुआ है कि आगामी दिनों में देश में कोई भी अंतरराष्ट्रीय बैठक या सम्मेलन आयोजित करने से पहले सभी सरकारी विभाग स्वास्थ्य मंत्रालय से सलाह-मशविरा करेंगे. पी.के. मिश्रा की अध्यक्षता वाली बैठक में गृह मंत्रालय को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वह सीमाओं पर एकीकृत जांच चौकियों पर स्क्रीनिंग प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों, जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ मिलकर काम करें. सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को बताया कि कोरोना वायरस से उत्पन्न हालात से निपटने के लिए सरकार पूरी तत्परता से सक्रिय है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वयं स्थिति की निगरानी कर रहे हैं. जावड़ेकर ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में बताया कि प्रधानमंत्री स्थिति की प्रतिदिन समीक्षा कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि देश के 21 हवाईअड्डों पर यात्रियों की नियमित तौर पर स्क्रीनिंग की जा रही है और इस प्रक्रिया से अब तक छह लाख लोग गुजर चुके हैं. Also Read - G-7 सम्मेलन में भारत, रूस, ऑस्ट्रेलिया, कोरिया को आमंत्रित करने की ट्रंप की योजना से चीन नाराज

होटलों और गेस्ट हाउस में पर्यटकों की जांच
दिल्ली और राजस्थान सहित कई राज्य सरकारों ने होटलों और गेस्ट हाउस में पर्यटकों की जांच की है. राजस्थान में घूमने आए इतालवी पर्यटक दल के संपर्क में राज्य के कुल 215 लोग आए जिनमें से 93 के नमूने लिए गए हैं. राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बुधवार को राज्य विधानसभा में यह जानकारी दी. इस बारे में लाए गए स्थगन प्रस्ताव पर सरकार की ओर से बयान देते हुए मंत्री ने कहा कि इस पर्यटक दल के संपर्क में आए 93 लोगों के नमूने लिए गए. 51 संदिग्ध रोगियों की जांच रपट निगेटिव आई जबकि 41 की रपट का इंतजार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि राजस्थान के झुंझुनू में 69 व्यक्ति इस दल के संपर्क में आया. उनमें से 39 लोगों में लक्षण नजर आए. जोधपुर में 14, बीकानेर में 44, जैसलमेर में 14 व्यक्ति इस दल के संपर्क में आए. उदयपुर में छह में से एक एवं रमादा होटल में छह कर्मचारियों के नमूने जांच के लिए भिजवाए गए हैं. इसी तरह पर्यटक के इलाज में शामिल रहे फोर्टिस अस्पताल में 35 में से नौ कर्मचारी एसएमएस अस्पताल में 35 कर्मचारियों सहित 37 लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमण के जिन 28 मामलों की पुष्टि हुई है उनमें 45 वर्षीय एक मरीज दिल्ली के मयूर विहार इलाके का निवासी है और छह अन्य उसके आगरा निवासी रिश्तेदार हैं. उन्होंने बताया कि इन सभी का इलाज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में चल रहा है.

सरकार ने एहतियाती कदम बढ़ाए
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित दिल्ली के मरीज के संपर्क में आने वाले 88 लोगों की जांच के सभी प्रयास जारी हैं. उन्होंने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोरोना वायरस से उत्पन्न हालात से निपटने के लिए उनके नेतृत्व में एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है. किसी को घबराने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि वायरस को फैलने से रोकने के लिए आप सरकार ने हरसंभव उपाय किए हैं. तेलंगाना में दो लोगों के नमूनों को जांच के लिए पुणे के राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान भेजा गया है. वहीं सरकार ने एहतियाती कदम बढ़ा दिए हैं. राज्य सरकार ने सार्वजनिक वाहनों में साफ-सफाई को बढ़ावा देने जैसे विभिन्न कदम उठाने का निर्णय किया है. तेलंगाना नगर प्रशासन मंत्री के टी रामाराव ने हैदराबाद मेट्रो रेल और राज्य परिवहन मंत्री पुर्ववाड़ा अजय कुमार से हैदराबाद मेट्रो ट्रेनों और तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में साफ-सफाई का ध्यान रखने को कहा है.

इटली और दक्षिण कोरिया की यात्रा करने वाले दो लोगों को अलग रखा
जम्मू के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इटली और दक्षिण कोरिया की यात्रा करने वाले दो लोगों को अलग रखा गया है. केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर को अलर्ट कर दिया गया है. हालांकि यहां अभी तक कोरोना वायरस का कोई मामला सामने नहीं आया है. गौतम बुद्ध नगर में 15 जनवरी तक विदेश यात्रा करने वाले कम से कम 373 लोगों को निगरानी में रखा गया है. नोएडा में कोरोना वायरस के संदेह में तीन बच्चों समेत जिन छह लोगों के नमूने लिए गए थे, उनकी जांच निगेटिव पाई गई है. हालांकि सभी छह लोगों को अगले 14 दिन के लिए अपने-अपने घर में अलग थलग रहने को कहा गया है. अधिकारियों ने बताया कि अगर उनमें कोविड-19 के लक्षण नजर आते हैं तो उनके नमूनों की फिर से जांच की जाएगी. महाराष्ट्र में पृथक वार्ड में भर्ती किए गए कम से कम 161 पर्यटकों की जांच नकारात्मक पाई गई है और राज्य में अभी फिलहाल नौ लोगों को अलग से रखा गया है. मुम्बई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर मध्य जनवरी से अभी तक 66,977 यात्रियों की जांच की जा चुकी है. पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने राज्य की विधानसभा को बुधवार को जानकारी दी कि कोरोना वायरस को लेकर अब तक पंजाब में सत्तर हजार लोगों की जांच की जा चुकी है. शून्यकाल के दौरान सिद्धू ने कहा, “उनकी जांच रिपोर्ट नकारात्मक पाई गई है.”

इटली से आए पर्यटकों खजुराहो में रोका, जांच
मध्य प्रदेश के छतरपुर में खजुराहो हवाईअड्डे के निदेशक पीके बेज ने बताया कि इटली से आए नौ पर्यटकों एवं उनके एक भारतीय गाइड को कोरोना वायरस के संदेह में मंगलवार को छतरपुर जिला अस्पताल में जांच के लिए भेजा गया था, क्योंकि ये पर्यटक उन देशों से गुजरते हुए आए थे जो कोरोना वायरस की चपेट में हैं. वहीं, छतरपुर जिले के कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने कहा, ‘‘चिकित्सकों की टीम जांच के लिए इटली से आए इन पर्यटकों के नमूने ले रही है. इन सभी को नौगांव के एक अस्पताल में पृथक वार्ड बनाकर रखा गया है. यह अस्पताल वर्तमान में खाली है.’’ आंध्र प्रदेश में विभिन्न देशों की यात्रा करके आए आठ लोगों को निगरानी में रखा गया है. कोरोना वायरस के बढ़ते कहर को देखते हुए सरकार ने अधिकारियों से एहतियाती कदम उठाने को है. राज्य में हालांकि अभी तक कोरोना वायरस का कोई मामला सामने नहीं आया है. विशेष मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) के. एस. जवाहर रेड्डी ने कहा कि हमने उनके खून के नमूने जांच के लिए भेजे हैं लेकिन अभी तक किसी के वायरस से संक्रमित होने की कोई पुष्टि नहीं हुई है. देश में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी और इसके आसपास के इलाकों में तीन स्कूलों को छात्रों और उसके कर्मियों के लिए एहतियाती तौर पर बंद कर दिया गया है. वहीं, दो स्कूलों ने समय से पहले वसंतकालीन छुट्टियों की घोषणा कर दी है और अन्य ने इस संबंध में अभिभावकों को परामर्श जारी किया है. दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने बुधवार को कहा कि वह कोरोना वायरस के मद्देनजर अपने परिसरों की साफ-सफाई बढ़ाएगी. वहीं भारत, इंडोनेशिया और थाईलैंड में कोरोना वायरस के नए मामलों की पुष्टि होने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों से स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहने और रोकथाम के उपाय सुनिश्चित करने को कहा है.