बांदा: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बांदा मेडिकल कॉलेज (Banda Medical College) की बर्खास्त 26 हड़ताली स्वास्थ्यकर्मियों को कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) के ट्वीट के बाद शनिवार को बहाल कर दिया गया है. राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. मुकेश यादव ने शनिवार दोपहर बाद जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, “कमेटी के सुझाव पर सभी कर्मियों को काम पर वापस लिया जाता है.” Also Read - बोनी कपूर और बेटियों समेत सामने आई स्टाफ मेंबर्स की कोरोना रिपोर्ट

इससे पहले, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने बर्खास्त मेडिकल महिलाकर्मियों का एक वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया था, “इस समय हमारे मेडिकल स्टाफ को सबसे ज्यादा सहयोग करने की जरूरत है.” Also Read - लॉकडाउन के चलते इस एक्ट्रेस ने खो दी अपनी ये खास चीज़, सोशल मीडिया पर जताया दुख

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट में आगे लिखा- “वे जीवनदाता हैं और योद्धा की तरह मैदान में डटे हैं. बांदा (Banda) में नर्सों और मेडिकल स्टाफ को उनकी निजी सुरक्षा के उपकरण न देकर उनका वेतन काट कर बहुत बड़ा अन्याय किया जा रहा है. यूपी सरकार (Yogi Adityanath Government) से मैं अपील करती हूं कि ये समय इन योद्धाओं के साथ अन्याय करने का नहीं, बल्कि उनकी बात सुनने का है.” Also Read - दिल्ली का एम्स ही बना कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट, 479 पॉजिटिव मामले मिले

गौरतलब है कि कोरोनावायरस (Corona Virus) के सुरक्षा किट न देने और वेतन कटौती करने के विरोध में एक अप्रैल से राजकीय मेडिकल कॉलेज के आउटसोर्सिग स्वास्थ्यकर्मी हड़ताल कर रहे थे. उन्हें प्राचार्य की अनुसंशा पर सेवादाता कंपनी अवनी परिधि ने शुक्रवार को बर्खास्त कर दिया था.

बता दें कि बाँदा (Banda) जिले में अब तक दो कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई है. कईयों को आइसोलेट किया गया है. इसी बीच ग्लव्स आदि की मांग की करने वाले स्वास्थ्यकर्मियों को हटा दिया गया था. इन स्वास्थ्यकर्मियों का कहना था कि हमें धमकी दी गई कि हाथ पैर तोड़ दिए जाएंगे. हमारी सैलरी भी कम की गई और फिर नौकरी से हटा दिया गया. प्रियंका गांधी ने इसका विडियो ट्वीट किया और इन्हें फिर से नौकरी मिल गई.